संतान की दीर्घायु के लिए महिलाओं ने रखा व्रत

संतान की दीर्घायु के लिए महिलाओं ने रखा व्रत

इटारसी। संतान की लंबी आयु के लिए आज महिलाओं ने संतान सप्तमी का व्रत किया। इसके लिए महिलाओं ने दोपहर में पूजा-पाठ किया और भजन कीर्तन किये। आमतौर पर यह पूजा घरों में होती है। लेकिन, कुछ जगह मंदिरों में भी महिलाओं ने सामूहिक पूजन-पाठ किया।उल्लेखनीय है कि संतान सप्तमी व्रत का विशेष महत्व है। हिंदी पंचांग के अनुसार, भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को संतान सप्तमी का व्रत किया जाता है। आज के दिन भगवान शिव और माता गौरी की विधि विधान से पूजा की जाती है। वे प्रसन्न होकर भक्तों को संतान प्राप्ति, उसकी रक्षा और उन्नति व कुशलता का आशीर्वाद देते हैं। मंगलवार को शहर के हर घर मे महिलाओं ने अपनी संतानों की लंबी आयु और सुख समृद्धि की मंशा से संतान सप्तमी व्रत रखते हुए पूजन-पाठ किया। महिलाओं ने पूजन के लिए पूजा स्थान पर चौक बनाकर शिव और गौरी की स्थापना करने के बाद वहां एक कलश स्थापित किया। फिर धूप, दीप, नेवैद्य, फल, पुष्प आदि भगवान शिव और माता गौरी को अर्पित किये। इसके बाद 7 मीठी पूड़ी, कलावा आदि भगवान शिव और माता पार्वती को चढ़ाये।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: