त्योहार के मूड में किसान, धान खरीदी की धीमी शुरुआत

त्योहार के मूड में किसान, धान खरीदी की धीमी शुरुआत

इटारसी। अभी किसान त्योहार (Kisan Festival) के मूड में है, यही कारण है कि एसएमएस जनरेट (Generate sms) होने के बावजूद प्रदेश में समर्थन मूल्य (support price) पर धान खरीद की शुरुआत के दो दिन होने के बावजूद खरीद केन्द्रों पर बहुत कम संख्या में पहुंच रहे हैं।
होशंगाबाद जिले में धान की समर्थन मूल्य पर खरीद आज से प्रारंभ हुई है। किसानों को अपनी उपज मंडियों में बने धान उपार्जन केन्द्रों पर लाने के लिए मैसेज भेजे जा चुके हैं। लेकिन, आज पहले दिन इक्कादुक्का किसान ही खरीद केन्द्रों पर पहुंचे।

पहले दिन लोकल हॉलीडे
दरअसल, संपूर्ण मप्र में समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन की तिथि 16 नवंबर थी। लेकिन, होशंगाबाद जिले में लोकल हॉलीडे (Local Holiday) होने के कारण आज दूसरे दिन ही पहले दिन की खरीद प्रारंभ हुई है। जिले में 43 खरीद केन्द्रों में धान खरीद का कार्य प्रारंभ होना है। आज पहले दिन सिर्फ दो जगह होशंगाबाद कृषि उपज मंडी और इटारसी कृषि उपज मंडी की उपमंडी रैसलपुर से ही धान खरीद की सूचना है। इनमें रैसलपुर उपमंडी में कुल 12 क्विंटल धान की खरीद हुई है, जबकि होशंगाबाद में 9 क्विंटल 60 किलो धान की खरीद की गई है।

ये हो सकते हैं धीमी शुरुआत के कारण
दरअसल, किसान हाल ही में त्योहार से निवृत हुआ है। हालांकि अभी देव उठनी एकादशी का त्योहार आना शेष है, जो ग्रामीण अंचलों में अधिक मनाया जाता है। इसके साथ ही अभी धान में मॉस्चर बहुत है, धान की सफाई होना है। यदि धान गीली रहेगी तो उसकी खरीद नहीं होगी। ऐसे में किसान का आने-जाने का खर्च बढ़ेगा और धान नहीं खरीदी तो वह परेशान होगा। किसान धान की सफाई और उसकी नमी कम होने का इंतजार भी कर रहा है, जिससे वह विक्रय केन्द्र पर नहीं पहुंच पा रहा है।

20 किसान प्रति सेंटर मैसेज भेजे
कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी (Junior supply officer) ने आज इटारसी और रैसलपुर उपमंडी में धान उपार्जन केन्द्र का निरीक्षण किया। यहां खरीद केन्द्र प्रभारी ने बताया कि किसानों को मैसेज भेजे हैं, लेकिन अभी किसान नहीं आ रहे हैं। प्रति खरीद केन्द्र 20-20 किसानों को मैसेज भेज रहे हैं। इटारसी कृषि मंडी में दो खरीद केन्द्र हैं और रैसलपुर उपमंडी में भी दो केन्द्र बनाये गये हैं। पहले छोटे किसानों को मैसेज भेजे जाते हैं, लेकिन वे किसान भी नहीं आ रहे हैं तो उनको टेलीफोनिक संदेश भेजकर भी अपनी उपज लेकर आने को कहा जा रहा है।

इनका कहना है…
16 नवंबर को जिले में स्थानीय अवकाश होने के कारण एक दिन देरी से धान की खरीद का काम प्रारंभ हुआ है। फिलहाल तो कुछ ही सेंटर्स पर किसान अपनी उपज लेकर पहुंचे हैं। अभी धान में नमी होने से भी किसान उपज नहीं ला रहे होंगे। आगामी दिनों में तेजी आने की उम्मीद की जा रही है।
अनिल तंतुवाय, (Anil Tantuvay, Nodal Officer)

आज हमने इटारसी क्षेत्र के चारों खरीद केन्द्रों का निरीक्षण किया है। केन्द्र प्रभारी से जानकारी मिली है कि अभी किसान उपज लेकर नहीं आ रहे हैं। किसानों को अपनी उपज लेकर आने के लिए 20 किसान प्रति सेंटर मैसेज किये हैं और टेलीफोन के जरिए भी सूचना भेजी जा रही है।
पुष्पराज पाटिल (Pushparaj Patil, Junior Supply Officer)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: