Tag: bahurang

बहुरंग: भाषाई गुलामी का एक प्रयास

Poonam Soni- 20/09/2020

विपिन पवार/इतिहास साक्षी है कि जब कभी कोई देश गुलाम हुआ है। शासक देश की संस्कृति, सभ्यता और भाषा का गहरा प्रभाव शासित देश पर ... Read More

बहुरंग … कोरोना का रोना

Manjuraj Thakur- 13/09/2020

विनोद कुशवाहा (Vinod Kushwaha) मेरे एक अभिन्न मित्र, पार्षद एवं भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष कुलदीप रावत के पिताश्री महेश रावत ने विगत् ... Read More

बहुरंग : पुस्तक समीक्षा – “शब्दों के परे” ले जाने वाली पुस्तक

Manjuraj Thakur- 06/09/2020

श्री विपिन पवार की रचनाएं विभिन्न पत्र पत्रिकाओं विशेषतया रेलवे की पत्रिकाओं में बहुधा पढ़ता रहा हूं पर उनकी पुस्तक के रूप में उनका सृजन ... Read More

बहुरंग: वे सिर्फ ‘घनश्याम’ नहीं…!

Poonam Soni- 30/08/2020

विनोद कुशवाहा : इटारसी के आर एम.एस ऑफिस से लगी हुई दुकानों में से एक दुकान घनश्याम सेठ की भी है। कहलाते वे 'सेठ' जरूर ... Read More

बहुरंग : कर्मचारियों के संग

Manjuraj Thakur- 16/08/2020

- विनोद कुशवाहा : म प्र के लगभग पांच लाख अधिकारियों - कर्मचारियों के लिये ये सुकून भरा समाचार हो सकता है कि उनको पदोन्नति ... Read More

बहुरंग : पत्रकारिता में अपराधिक तत्व : एक अशुभ संकेत

Manjuraj Thakur- 26/07/2020

- विनोद कुशवाहा (Vinod Kushwaha) : जीतू सोनी , किशोर वाधवानी के बाद अब प्यारे मियां पुलिस के शिकंजे में आया है। 'दबंग दुनिया' का ... Read More

बहुरंग : जनकवि संतोष चौरे का यूं चले जाना

Manjuraj Thakur- 21/06/2020

- विनोद कुशवाहा :  वैसे तो अक्सर "बहुरंग" में आनंद का अतिरेक ही मौजूद रहता है लेकिन आज इस कॉलम में खामोशी छाई हुई है। ... Read More

बहुरंग : “चाँद” को याद करने का दिन

Manjuraj Thakur- 14/06/2020

- विनोद कुशवाहा आज निश्चित ही ' चाँद ' को याद करने का दिन है लेकिन ये "चाँद" आसमां का नहीं है । ये चाँद ... Read More

error: Content is protected !!