तवा बांध (Tawa Bandh) बायीं तट मुख्य नहर में छोड़ा 7 सौ क्यूसेक पानी

तवा बांध (Tawa Bandh) बायीं तट मुख्य नहर में छोड़ा 7 सौ क्यूसेक पानी

दायीं तट मुख्य नहर में 5 नवंबर से छोड़ा जाएगा पानी

इटारसी। रबी फसल (Rabi grain) के लिए तवा बांध(Tawa bandh) से बायीं तट मुख्य नहर में आज 7 सौ क्यूसेक पानी छोड़ दिया गया है। तवा बांध से 22 अक्टूबर से बायीं तट मुख्य नहर में पानी छोडऩे के निर्णय का आज संभागीय जल उपयोगिता समिति (Divisional water utility committee) की बैठक में अनुमोदन किया था। कमिश्नर रजनीश श्रीवास्तव (ommissioner Rajneesh Srivastava) की अध्यक्षता में कमिश्नर कार्यालय के सभाकक्ष में संभागीय स्तरीय जल उपयोगिता समिति की बैठक में कलेक्टर होशंगाबाद धनंजय सिंह(Collector Hoshangabad Dhananjay Singh), कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह(Collector Betul Rakesh Singh), कलेक्टर हरदा संजय गुप्ता(Collector Harda Sanjay Gupta), मुख्य अभियंता तवा परियोजना राकेश अग्रवाल(Chief Engineer Tawa Project Rakesh Aggarwal), अधीक्षण यंत्री तवा परियोजना एसके सक्सेना (Superintending Engineer Tawa Project SK Saxena), अधीक्षण यंत्री बैतूल प्रमोद कुमार बरूआ(Superintendent Engineer Betul Pramod Kumar Barua), उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह(Deputy Director Agriculture Jitendra Singh), महाप्रबंधक एमपीएसईबी (General Manager MPSEB), बीबीएस परिहार (BBC Parihar) उपस्थित रहे।

इस वर्ष सौ फसीद भर गया बांध
तवा परियोजना दायीं तट मुख्य नहर में 5 नवंबर से तथा डोकरीखेड़ा मध्यम योजना (Dokri Kheda Medium Scheme) से आवश्यकतानुसार पानी छोड़ा जाएगा। इस वर्ष हुई अच्छी बारिश से तवा बांध की जल भराव क्षमता 100 प्रतिशत है। रबी सिंचाई के लिए नहरों की सफाई का कार्य पूरा कर लिया है। कमिश्नर के जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को निर्देश हैं कि नहरों की मरम्मत एवं रख-रखाव पर विशेष ध्यान देकर लगातार फील्ड निरीक्षण करें। किसी भी प्रकार के समन्वय के मुद्दों को कलेक्टर एवं वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में लाए तथा उनका निराकरण कराएं। कमिश्नर ने एसई एमपीईबी को सिंचाई हेतु निर्धारित प्रोटोकॉल अनुसार बिजली की आपूर्ति के निर्देश दिए हैं। साथ ही बड़े बकायादारों को चिन्हित कर वसूली के निर्देश भी विद्युत विभाग एवं जल संसाधन विभाग को दिए।

सिंचाई लक्ष्य 269289 हैक्टेयर
तवा परियोजना से वर्ष 2020-21 में जिला होशंगाबाद में तवा वृहद परियोजना से 159277 हेक्टेयर, डोकरीखेड़ा मध्यम परियोजना से 2900 हेक्टेयर, 12 लघु योजनाओं से 2083 हैक्टेयर सहित कुल 164260 हैक्टेयर में सिंचाई लक्ष्य प्रस्तावित है। हरदा में तवा वृहद परियोजना से 102254 एवं 3 लघु योजनाएं से 2775 इस तरह कुल 105029 हेक्टेयर लक्ष्य प्रस्तावित है। तवा परियोजना मंडल होशंगाबाद अन्तर्गत हरदा एवं होशंगाबाद जिले में कुल 269289 हेक्टेयर सिंचाई लक्ष्य रखा है। होशंगाबाद जिले में तवा बांध की बाई तट मुख्य नहर से 99937 हैक्टेयर एवं तवा दाई तट मुख्य नहर से 59340 हेक्टेयर क्षेत्र में पलेवा एवं तीन पानी आवश्यकतानुसार रबी सिंचाई हेतु दिया जाना प्रस्तावित है। जिले के सोहागपुर, पिपरिया विकासखंड में मध्यम/लघु जलाशयों से रबी सिंचाई हेतु कुल 3391 हेक्टेयर एवं विकास खंड केसला की 9 लघु योजनाओं से 1592 हेक्टेयर रकबा प्रस्तावित है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: