ऑर्डिनेंस फैक्ट्री क्षेत्र में चोरों ने गैस कटर से काटा एटीएम

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री क्षेत्र में चोरों ने गैस कटर से काटा एटीएम

आग लगने पर जल गये दस लाख रुपए के नोट

इटारसी। ऑर्डिनेंस फैक्ट्री परिसर (Ordinance Factory Complex) जैसे सुरक्षित माने जाने वाले क्षेत्र में चोरों ने न सिर्फ सेंधमारी कर ली, बल्कि वे बड़ा सा गैस सिलेंडर (Gas cylinder) भी ले गये। माना जा रहा है कि चोरों ने गैस कटर (Gas kater) से एटीएम (ATM) को काटने का प्रयास किया और उस दौरान नोटों में आग लग गयी। पुलिस ने सेंट्रल बैंक के प्रबंध पीयूष पांडेय (Central Bank Managing Piyush Pandey) की शिकायत पर पथरोटा पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। मामले की विवेचना जारी है।

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री जैसे सुरक्षित माने जाने वाले क्षेत्र में भी चोर सेंधमारी कर सकते हैं। यह बात बीती रात यहां सेंट्रल बैंक के एक एटीएम को चुराने का प्रयास जैसी घटना से पता चलती है। घटना वाला क्षेत्र ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से दूर बाजार क्षेत्र में है। सुरक्षित माने जाने वाले क्षेत्र में इस तरह की घटनाएं सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाती है।

चेकपोस्ट से नहीं गुजरे
ऑर्डिनेंस फैक्ट्री (Ordinance Factory) के चेक पोस्ट से ऐसा कोई भी संदिग्ध वाहन नहीं घुसा है। पथरोटा पुलिस ने चेक पोस्ट के फुटेज देख लिए हैं, जिसमें कोई भी संदिग्ध वाहन नहीं दिखाई दिया है। माना जा रहा है कि चोरों ने मुख्य मार्ग से अलग कोई रास्ता चुना है। बता दें कि ऑर्डिनेंस फैक्ट्री का आवासीय परिसर और बाजार एरिया ऐसा है, जहां पहुंचने के लिए आसपास के ग्रामीण अंचलों से सैंकड़ों रास्ते हैं। माना जा रहा है कि ऐसे ही किन्हीं रास्तों का प्रयोग चोरों ने किया होगा।

गांव के लोग बना लेते हैं रास्ते
ऑर्डिनेंस फैक्ट्री (Ordinance Factory) परिसर के आसपास कई गांव बसे हुए हैं। इन गांवों से भी कई कर्मचारी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में नौकरी करने आते हैं तो इन गांवों के लोग ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बाजार से खरीदारी करने भी पहुंचते हैं। ऐसे में कई कर्मचारी और ग्रामीण मुख्य रास्ता या गांव के रोड का इस्तेमाल न करके कई बायपास रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। वे अपनी सुविधा के अनुसार नए-नए रास्ते बना लेते हैं। इस तरह के शार्टकट रास्ते तैयार हो जाते हैं। संदेह है कि चोरों ने ऐसे ही किसी रास्ते का चुना हो।

जले हुए नोट और गैस सिलेंडर मिले
पुलिस को एटीएम के आसपास बड़ी मात्रा में जले हुए नोट मिले हैं। इसके अलावा एक गैस सिलेंडर भी मौके से बरामद किया है। माना जा रहा है कि इसी गैस सिलेंडर के द्वारा गैस कटर चलाकर एटीएम को तोडऩे का प्रयास किया होगा और इसी दौरान नोटों ने आग पकड़ ली होगी। इस दौरान सारे नोट जलने के कारण ही चोर वहां सिलेंडर छोड़कर भाग निकले होंगे। पथरोटा थाना प्रभारी प्रज्ञा शर्मा ने बताया कि जांच जारी है, उम्मीद है हम जल्द ही आरोपियों तक पहुंच सकेंगे।

कल ही पांच लाख जमा किये थे
सेंट्रल बैंक के मैनेजर पीयूष पांडेय ने पुलिस को बताया कि मंगलवार को ही इस एटीएम में पांच लाख रुपए जमा किये थे और पांच लाख रुपए इसमें पहले से ही जमा थे। इस तरह से चोरी के प्रयास के दौरान गैस कटर से लगी आग में पूरे दस लाख रुपए जलकर खाक हो गये हैं। पहले जानकारी मिली थी कि कल ही पांच लाख जमा किये थे और पुलिस इन्हीं पांच लाख जलना मान रही थी। लेकिन, सेंट्रल बैंक के मैनेजर ने बताया कि पांच लाख पूर्व से जमा थे, इस तरह दस लाख रुपए जले हैं।

इनका कहना है…!

अभी हमारे पास एटीएम के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज नहीं आये हैं, इसलिए फिलहाल अनुमान ही लगाया जा रहा है। फुटेज प्राप्त होने के बाद जांच में काफी सहयोग मिल जाएगा और हम उम्मीद कर रहे हैं कि फुटेज मिलने के बाद मामले में जल्द सफलता भी मिल जाएगी।
प्रज्ञा शर्मा(Pragya Sharma), थाना प्रभारी पथरोटा(Thana Incharge)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: