BREAK NEWS

नरवाई में आग लगाने वाले को पांच वर्ष की सजा, पांच हजार का जुर्माना

नरवाई में आग लगाने वाले को पांच वर्ष की सजा, पांच हजार का जुर्माना

इटारसी। कोर्ट ने खेत में नरवाई जलाने के मामले में आरोपी को पांच वर्ष का कारावास और पांच हजार रुपए का जुर्माना तथा फरियादी को 20 हजार रुपए का मुआवजा देने का आदेश पारित किया है। एपीजी भूरेसिंह भदौरिया ने बताया कि मामले में आरोपी को जेल भेज दिया गया है। आरोपी कांग्रेस नेता बताया जा रहा है।
द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश इटारसी कु सविता जडिय़ा ने खेत की नरवाई जलाने वाले आरोपी रामशंकर लौवंशी पिता हरिप्रसाद लौवंशी, 37 वर्ष, निवासी मलोथर को 5 वर्ष का कारावास, 5 हजार रुपए जुर्माना और फरियादी सरजू बाई को 20 हजार मुआवजा देने का किया आदेश पारित किया है।
एपीजी भूरेसिंह भदौरिया ने बताया कि अभियुक्त रामशंकर के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 435 एवं 436 के तहत अपराध का आरोप था कि उसने 21 अप्रैल 2020 को दोपहर 2 बजे से 3:30 बजे के मध्य अपने खेत की नरवाई में आग लगायी। घटना में गांव की ही महिला का घर जलकर राख हो गया जिसमें उसकी गृहस्थी का सामान व अन्य सामान पूरी तरह से जल गया था।

यह नुकसान होना बताया

खेत की नरवाई की आग ने फरियादी के मानव निवास के या संपत्ति की अभिरक्षा के रूप में उपयोग में आने वाले मकान में रखे सामान तथा जानवर बांधने की सार, जिसके अंदर मुर्गा-मुर्गी के चूजे लकड़ी, कल, गृहस्थी का सामान सोफा सेट, तखत, कृषि सामग्री आदि जलकर राख हो गये थे। फरियादी ने 18 मई 2020 को थाना पथरौटा में रिपोर्ट दर्ज करायी कि 21 अप्रैल 2020 को प्रात: 09 बजे जब वह महुआ बीनने जंगल गई थी, उसके घर पर उसका लडका नवीन तथा बहू आरती, ज्योति सुरेखा तथा बच्चे थे। फरियादिया के लड़के की तबीयत खराब थी। जब वह जंगल से महुआ बीनकर शाम करीब 6 बजे वापस घर आई तो देखा कि उसका घर आग से जल गया था, वहां उसका लड़का, बहू एवं गांव के लोग खड़े थे। उसने बहू से पूछा आग कैसे लग गई, घर कैसे जल गया, तब बहू ने बताया कि खेत की नरवाई की आग जलते-जलते घर की तरफ आ गई और घर में आग लग गई। उसके चिल्लाने पर गांव वालों ने आग बुझाने का प्रयास किया एवं किसी ने फोन से फायर बिग्रेड बुलाकर आग बुझाई है। आग लगने से घर में रखा सामान डबल बेड, सोफा, तखत, कृषि सामान, कपड़े, मुर्गा-मुर्गी घर में रखे 7000 रुपए जलकर राख हो गये। घर में आग लगने से फरियादिया की 1,50,000 रुपए का नुकसान हो गया। उक्त रिपोर्ट के आधार पर अपराध क्रमांक-98/2020 के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कर प्रकरण में विवेचना की गई। अभियुक्त को गिरफ्तार किया। अभियुक्त पर धारा 435, 436 के अंतर्गत अभियोगपत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। मामले में आज कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ निर्णय पारित करते हुए उसे सजा सुनाई। अपर लोक अभियोजक भूरेसिंह भदौरिया और राजीव शुक्ला ने शासन की ओर से पैरवी की।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!