BREAK NEWS

पार्सल कार्यालय में दलालों का राज, स्टाफ की जगह दलाल तय करते हैं रेट

पार्सल कार्यालय में दलालों का राज, स्टाफ की जगह दलाल तय करते हैं रेट

इटारसी। रेलवे पार्सल कार्यालय (Railway Parcel Office) में दलाली चरम पर होने की खबर के बाद जेडआरयूसीसी (ZRUCC) के सदस्य राजा तिवारी ने यहां का निरीक्षण किया और अधिकारियों को सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए दलाली प्रथा पर अंकुश लगाने को कहा। उनको सूचना मिली थी कि पार्सल कार्यालय में पार्सल (Parcel) की बुकिंग (Booking) का रेट पार्सल कर्मचारी नहं बल्कि वहां पार्सल लोडिंग-अनलोडिंग (Loading-Unloading) करने वाले दलाल जावेद के कर्मचारी तय करते हैं। इसके बाद उन्होंने कार्यालय का निरीक्षण किया।
यहां आने वाले लोग परेशानी से बचने पार्सल बुकिंग के लिए या फिर पार्सल डिलीवरी (Parcel Delivery) के लिए आने वाला ग्राहक इन दलालों के हाथों लुटने का मजबूर होता है। हाल ही में पीयूष दुबे नामक युवक अपने परिचित शिवम तिवारी की बाइक को पार्सल कार्यालय से बुक कराने की मंशा से पहुंचा था। युवक को बाइक सिकंदराबाद (Secunderabad) भेजना थी। युवक ने जब यहां काम देखने वाले दलाल जावेद के एक कर्मचारी से बाइक (Bike) भिजवाने का खर्च पूछा तो उसने युवक को 2300 रुपए का खर्च बताया। युवक ने जब बाइक की बिल्टी (Bilti) का रेट पूछा तो वह बता नहीं सका। पार्सल बुकिंग के नाम पर कार्यालय में चल रही इस मनमानी की शिकायत युवक ने जेडआरयूसीसी मेंबर राजा तिवारी को की तो वे मौके पर पहुंचे थे।
उन्होंने दलाल जावेद के कर्मचारी को जमकर फटकारा और पार्सल कार्यालय के कर्मचारियों से भी दलालों की कार्यालय में एंट्री पर नाराजी जताई। उन्होंने इसकी शिकायत डीसीआई (DCI) विकास सिंह से करते हुए कार्यालय में पार्सल बुकिंग की निर्धारित दरें चस्पा करने और शिकायत के लिए नंबर भी बोर्ड पर चस्पा करने की बात कही। इस मामले में राजा तिवारी ने बताया कि पार्सल कार्यालय में दलालों का राज है। दलालों के कारण पार्सल बुकिंग करने आने वाले लोगों को लुटना पड़ रहा है। इसकी शिकायत जेडआरयूसीसी की बैठक में की जाएगी। वहीं इस मामले में डीसीआई विकास सिंह ने कहा कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है। स्टाफ (Staff) को इस संबंध में सख्त निर्देश देंगे और जेडआरयूसीसी मेंबर ने जो सुझाव दिए हैं उनको कराने का प्रयास किया जाएगा।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!