दो वर्ष नहीं शिफ्ट होगा मालगोदाम, आय बढ़ाने मांगा सहयोग

दो वर्ष नहीं शिफ्ट होगा मालगोदाम, आय बढ़ाने मांगा सहयोग

डीआरएम (DRM) और रेलवे मालगोदाम (Railway warehouse) के परिवहनकर्ताओं में डेढ़ घंटे चली चर्चा

इटारसी। रेल मंडल भोपाल (Rail Mandal Bhopal) के डीआरएम उदय बोरवणकर (DRM Udaya Borwankar) ने आज अपने इटारसी दौरे के दौरान रेलवे मालगोदाम के परिवहनकर्ता, ठेकेदार और हम्मालों से मालगोदाम की आय बढ़ाने संबंधी चर्चा करके उनसे सुझाव मांगे। परिवहनकताओं ने साफ कहा कि जब तक सुविधाएं नहीं होंगी, आय बढ़ाने की बात करना भी बेमानी है। इस दौरान डीआरएम को रेलवे मालगोदाम में सुविधाओं को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा गया। डीआरएम आज गुरुवार को दोपहर रेलवे मालगोदाम पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने करीब डेढ़ घंटे परिवहनकताओं, ठेकेदारों और हम्मालों से बैठक करके बातचीत की। यहां काम करने वाले परिवहनकर्ताओं ने साफ कहा कि पिछले दिनों भी कई अधिकारी आए, हमारी समस्याएं सुनी और उनका कोई निराकरण नहीं हुआ। डीआरएम ने कहा कि मुझे बताएं, मार्च तक अधिकांश समस्याओं का निराकरण कर दिया जाएगा।

ये रखीं खास मांगें
रेलवे मालगोदाम में समस्याओं की जो फेहरिस्त डीआरएम को सौंपी गयी उनमें ज्यादातर समस्याएं कॉमन थीं, जो पहले भी अधिकारियों को दी गई थी। एक मुख्य मांग थी, जिसमें मालगोदाम का समय 24 घंटे से घटाकर 16 घंटे करने का था, जो डीआरएम बोरवणकर (DRM Borwankar) ने मान ली। इस मांग के मान लिये जाने से मालगोदाम में अब 16 घंटे काम होगा और आठ घंटे की छूट मिलेगी। इसके अलावा मालगोदाम में गंदगी की समस्या से निजात दिलाने, धूल से मुक्ति के लिए रोड, पेयजल, सिलीपाट बिछाने, लाइट की समस्या का निदान करने आदि की मांग परिवहनकर्ताओं और हम्मालों ने रखी। अधिकांश समस्या मार्च तक खत्म करने का आश्वासन डीआरएम से मिला है।

ये शामिल थे चर्चा में
डीआरएम उदय बोरवणकर के साथ परिवहनकर्ता, ठेकेदारों और हम्मालों की इस करीब डेढ़ घंटे चली चर्चा में ट्रक ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय टप्पू मिश्रा, रिंकू भाटिया, बंटी लाम्बा, लोकेश शाह, शाहनबाज बेग, मोनू जैन, नवनीत हेडा सहित मालगोदाम में किसी न किसी कार्य से जुड़े करीब तीन दर्जन से अधिक लोग शामिल हुए। सभी ने डीआरएम को अपनी मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा। चर्चा में डीआरएम ने रेलवे मालगोदाम की आय बढ़ाने की बात करते हुए कहा कि रेलवे फिलहाल घाटे में है, अत: अभी माल गोदाम को अन्यत्र शिफ्ट करने जैसी योजना पर काम नहीं होगा। कम से कम दो वर्ष यहां से मालगोदाम कहीं जाने वाला नहीं है, अत: यहीं सुविधाएं जुटाएंगे और मालगोदाम से आय बढ़ाने के लिए उन्होंने परिवहनकताओं से सहयोग मांगा है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW