पर्यावरण Environment के लिए भोपाल Bhopal मंडल Division द्वारा किये जा रहे कार्य

पर्यावरण Environment के लिए भोपाल Bhopal मंडल Division द्वारा किये जा रहे कार्य

भोपाल। पर्यावरण संरक्षण Environment protection का समस्त प्राणियों के जीवन तथा धरती के समस्त प्राकृतिक परिवेश से घनिष्ठ संबंध है। पर्यावरण संपूर्ण जीव जगत का आधार है, जो दीर्घ काल से इसके उद्भव व विकास में सहायक रहा है तथा भविष्य का विकास भी इसी पर निर्भर है। मंडल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर Divisional Railway Manager Uday Borwankar के निर्देशन व मार्गदर्शन में भोपाल मंडल रेल Bhopal Division Rail प्रशासन द्वारा पर्यावरण एवं उसके संरक्षण की दिशा में कई आधारभूत एवं जागरूकता फैलाने वाले कार्य किये हैं, जिसके अंतर्गत रेलवे Railway की खाली जमीन पर सघन वृक्षरोपण, जल संरक्षण एवं वर्षा जल का संग्रहण हेतु उदयन खेड़ी, मुंगावली, गुनेरू, सारंगपुर, सरगांव-बंजारी, बरुड़, छनेरा, इटारसी, विजयपुर स्टेशनों के समीप तालाबों का निर्माण, सौर ऊर्जा का अधिकाधिक उपयोग करने के लिए जगह-जगह पर सौर ऊर्जा प्लांट Solar power plant लगाना, स्टेशन परिसर एवं गाडिय़ों की साफ सफाई आदि कार्य के साथ साथ यात्रियों को स्टेशन परिसर एवं गाडिय़ों में शुद्ध वातावरण बनाये रखने अपने आस पास गंदगी नहीं फैलाने, सूती कपड़े के थैले का उपयोग अपने व्यवहार में लाने, कूड़ा कचरा कूड़ेदान में ही डालने, आवश्यकता के मुताबिक ही पानी का उपयोग करने, प्लास्टिक वस्तुओं का उपयोग नहीं करने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त इस वित्तीय वर्ष 2020.21 में भोपाल मंडल रेल प्रशासन द्वारा पर्यावरण के क्षेत्र में राष्ट्रीय हरित अधिकरण के मानक के अनुसार कई महत्वपूर्ण कार्य किये जा रहे हैं।

यह कार्य किये जा रहे मंडल में
– भोपाल स्टेशन Bhopal Station पर 10 लाख लीटर क्षमता का अपशिष्ट जल पुनर्चक्रण संयत्र Waste water recycling plant (वेस्ट वाटर रीसायकल प्लांट) पहले से कार्य कर रहा है। लेकिन स्टेशन पर प्रति दिन लगभग 14 लाख लीटर की आवश्यकता है। इस आवश्यकता की पूर्ति के लिए 4 लाख लीटर क्षमता का एक अतिरिक्त अपशिष्ट जल पुनर्चक्रण संयंत्र लगाने की कारवाही प्रक्रियाधीन है।
– भोपाल कोचिंग डिपो Bhopal Coaching Depo में गाडिय़ों की धुलाई करने से निकलने वाला अपशिष्ट जल के पुनर्चक्रण के लिये एक लाख लीटर क्षमता का ETP प्लांट के निर्माण का प्रावधान।
– वर्षा के जल को संग्रह कर उसे उपयोग में लाने के लिए भोपाल स्टेशन पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का प्रावधान।
– भोपाल Bhopal एवं इटारसी स्टेशन Itarsi Station पर निर्धारित मात्रा से ज्यादा पानी के उपयोग को रोकने के लिए इन स्टेशनों पर पानी मापने का यंत्र (Efficient Fixture) लगाने का प्रावधान।
– भोपाल स्टेशन यार्ड Bhopal Station Yard में जल निकासी का मार्ग मुख्य जल निकासी मार्ग से जुड़ा है, जो कि बहुत कम और पुराना होने के कारण समय-समय पर जाम की स्थिति निर्मित होती है। इस समस्या से निजात पाने के लिए पुराने जल निकासी सिस्टम को बदल कर नए जल निकासी सिस्टम का प्रावधान।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: