आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ कहते हैं ये बॉडी सिग्नल

आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ कहते हैं ये बॉडी सिग्नल

Health Tips: कहते हैं अगर आपका स्वास्थ्य अच्छा है, तो सब अच्छा। लेकिन आप अपनी हेल्थ का कितना ख्याल रखते हैं और कभी-कभी हम इसे नजरअंदाज भी करते हैं। हमारी जीवनशैली और हमारे खानपान की वजह से हमारा स्वास्थ्य गड़बड़ा जाता है। इन सबके बीच हमारी बॉडी हमें कुछ न कुछ सिग्नल देती रहती है, जो बताते हैं कि आप अस्वस्थ हैं। आइए जानें कुछ बॉडी सिग्नल्स के बारे में।

आंखों का रंग
क्या आपने कभी अपनी आंखों पर गौर किया है? क्या आप जानती हैं कि आपकी आंखें आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बताती हैं। आंखों का व्हाइट पार्ट का रंग बदलने से पता चलता है कि आपके स्वास्थ्य में कुछ गड़बड़ी चल रही है।

अगर आपकी आंखें पीली हैं, तो इसका मतलब है कि आपके लीवर में कोई दिक्कत हो रही है।
अगर आंखें अक्सर लाल हो रही हैं, तो इसका मतलब है आपकी आंखों में किसी तरह का इंफेक्शन हुआ है।
कंप्यूटर पर ज्यादा देर तक काम करने से आंखों में लालिमा या आसपास सूजन होने लगती है। आंखों की लालिमा का मतलब है आई स्ट्रेन हो सकता है।

मसूड़ों का रंग
हमारे हेल्दी मसूड़े हल्के गुलाबी/गुलाबी रंग के होते हैं। अगर मसूड़े लाल, काले, पीले या काले रंग के हैं, तो इसका मतलबा है आपको अपने हेल्थ पर ध्यान देने की जरूरत है।
मसूड़े के पास लालिमा का मतलब मसूड़ों की सेंसिटिवी, जिससे झनझनाहट होती है।
किसी दवा का सेवन लगातार कर रहे हैं, तो उसके भी साइड इफेक्ट्स होने से मसूड़ों का रंग धीरे-धीरे काला होने लगता है।
केरेटीनाइज्ड लेयर की वजह से काले मसूड़ों की समस्या जिंजाइवा की केरेटीनाइज्ड लेयर में काले पिगमेंट उत्पन्न करने वाली मिलेनोसाइट्स सेल के वजह से होती है। जिसके कारण मसूड़े गुलाबी के स्थान पर काले दिखाई देते हैं।

अचानक वजन बढ़ना या घटना
वजन घटना अच्छी बात है, मगर अगर वजन बार-बार फ्लक्चुएट कर रहा है तो यह चिंता की बात हो सकती है, इसके कुछ प्रमुख कारण यह हो सकते हैं-
वजन में अचानक बदलाव इस बात का संकेत हो सकता है कि आपका थायराइड ठीक से काम नहीं कर रहा है।
हार्मोन में बदलाव होने के कारण भी आपका वजन घट या बढ़ सकता है। मेंस्ट्रुअल पीरियड के दौरान भी अगर ऐसा हो रहा है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
वजन का घटना आपकी नींद से भी संबंधित हो सकता है। अगर आप ठीक तरीके से नींद नहीं ले रही हैं, तो आपका वजन घटता है।

जीभ का रंग
आपकी जीभ अगर गुलाबी है, तो इसका मतलब है आप बिल्कुल ठीक हैं। लेकिन जीभ में बहुत ज्यादा पीली या सफेद परत है, तो इसका मतलब है कि आप अस्वस्थ हैं।

आपकी जीभ पर सफेद रंग का निशान होने का मतलब है कि आपको पाचन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
अगर आपको कड़वा स्वाद आ रहा है और जीभ का रंग पीला हो रहा है, तो इसका मतलब है कि आप गॉलब्लैडर या लीवर की समस्या से पीड़ित हैं।
अगर आपकी जीभ का रंग हल्का सफेद और ग्रे हो रहा है, तो इसका मतलब है कि आप डिहाइड्रेटेड हैं और आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी की जरूरत है।

पैरों में सूजन
क्या आपके पैर लटाकर रखने से उनमें सूजन आ जाती है और वह दर्द करने लगते हैं? क्या आपके पैरों में नसें भी इकट्ठी होती हैं, तो इसका मतलब है कि आप इन परेशानियों से पीड़ित हैं-

ऐसा हो सकता है कि आप एडिमा से पीड़ित हों। यह उच्च रक्तचाप या हृदय की समस्याओं के कारण भी हो सकता है। इसलिए रक्तचाप की जांच नियमित रूप से करवाएं।
पैरों की सूजन का एक अन्य कारण यह हो सकता है कि आपकी स्पाइन में दिक्कत बढ़ रही हैं। एक तरफ की नस दबने से भी पैरों में सूजन बढ़ती है। वजन बढ़ना, ज्यादा देर खड़े रहना, चेहरे और आंखों में सूजन होने की वजह से पैरों में भी सूजन होती है। इसके लिए आपको तुरंत किसी डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

शरीर पर चोट के निशान
क्या आपके शरीर पर अपने आप ही चोट के निशान होने लगते हैं? ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारे शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं मिल पाता। इसके कई अन्य कारण हैं- जब आपका शरीर पर्याप्त थ्रोम्बोसाइट्स या प्लेटलेट्स का उत्पादन करने में असमर्थ होता है, तो आप इस तरह के घावों का अनुभव कर सकते हैं।
यदि आपके शरीर में विटामिन-सी की कमी है, तो आपका मेटाबॉलिज्म प्रभावित हो सकता है, जिससे चोट के निशान दिखाई दे सकते हैं।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!