इस बार नयी तकनीक का इस्तेमाल, श्री राम मंच से रावण के पुतले को मारेंगे अग्निबाण

इस बार नयी तकनीक का इस्तेमाल, श्री राम मंच से रावण के पुतले को मारेंगे अग्निबाण

इटारसी। रावण (Ravana) का पुतला दहन करने इस बार नयी तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। आज शाम को जब राम-रावण युद्ध (Ram-Ravana war) के बाद रावण वध के बाद पुतला दहन होगा, तो श्रीराम दल (Shri Ram Dal) को पिछले वर्षों की तरह लड़ते हुए पुतलों के पास तक नहीं जाना पड़ेगा बल्कि 120 मीटर दूर से ही श्रीराम अग्रिबाण चलाकर पुतला दहन करेंगे। यह अग्निबाण गांधी मैदान (Gandhi Maidan) के दक्षिण छोर पर बने मंच से उत्तर छोर पर 120 मीटर दूर रावण के पुतले की नाभी में मौजूद अमृत कुंड में जाकर लगेगा।
इस वर्ष नगरपालिका परिषद (Municipal Council) शाम 07 बजे गांधी मैदान में रावण दहन करेगी। पुरानी इटारसी सूखा सरोवर (Old Itarsi dry lake) में रात 8 बजे रावण दहन होगा।

मंच से ही चलाएंगे अग्नि बाण

इस वर्ष रामलीला में विशेष आकर्षण राम रावण युद्ध और रावण पुतला दहन होगा। रामजी इस बार मैदान में दर्शकों के बीच से रावण के पास न जाकर सीधे मंच से ही रावण को अग्निबाण मारेंगे। यह दूरी करीब 120 मीटर की होगी। इस नए प्रयोग के लिए गांधी मैदान पर अभ्यास किया जा चुका है।

ऐसी है अग्निबाण की नयी तकनीक

शहर के लिए अग्निबाण की तकनीक नयी तो है, लेकिन शहर के लोग इस अपरिचित भी नहीं हैं। दरअसल, इससे पहले इस तकनीक को शहर के लोग दो बार पूर्व में भी देख चुके हैं। दरअसल, श्री बालकृष्ण लीला संस्थान वृंदावन  (Shri Balkrishna Leela Sansthan Vrindavan) के मंडल ने हनुमान जी की भेजी श्रीराम की अंगूठी को अशोक वाटिका में जिस तकनीक से पहुंचाया था, उसी तकनीक से अग्निबाण भी पहुंचेगा। इसमें एक जीआई तार के सहारे बाणरूपी मशाल रस्सी से खींचकर रावण के पुतले तक भेजी जाएगी जो पुतले से आग सहित लाकर लगेगा और पुतला जलने लगेगा।

ऐसी रहेगी दशहरा मैदान की व्यवस्था

  • – बैठक व्यवस्था की पहली पंक्ति में मुख्य व विशेष अतिथि, पार्षद व अन्य गणमान्य नागरिक बैठेंगे।
  • – मातृशक्ति व ब’चों के बैठने के लिए विशेष पिंक जोन होगा। जहां महिला पुलिस सुरक्षा के लिए मौजूद रहेंगी।
  • – बैठक व्यवस्था के तृतीय फेस में कॉमन एरिया होगा, जहां सभी बैठ सकेंगे।
  • – रावण दहन के लिए पुतला 40 फीट ऊंचाई का बनाया गया है। रावण के साथ उसका पुत्र मेघनाथ और भाई कुंभकरण के पुतले भी जलेंगे। दहन के समय आतिशबाजी भी होगी।

यहां होगी वाहन पार्किंग

टीआई राम स्नेही चौहान ने बताया कि रेलवे स्टेशन सूरजगंज मुख्य मार्ग रेस्ट हाउस के पास से शाम 6 बजे से रावण दहन तक फ्रेंड्स स्कूल तिराहे के पास तक बंद रहेगा। रावण दहन व लीला देखने आने वाले नागरिक गांधी मैदान में पैदल पहुंचेंगे। नागरिकों के वाहनों की पार्किंग के लिए रेस्ट हाउस के साइड के दोनों रोड, अटल पार्क के साइड के दोनों रोड और फ्रेन्डस स्कूल का मैदान रहेगा। मुख्य बाजार क्षेत्र में जिन रास्तों से मां दुर्गा दुर्गा चौक की प्रतिमा और गुरुद्वारा वाली मां काली की प्रतिमा गांधी मैदान तक आएंगी। उन रोड पर भी वाहनों की पार्किंग नहीं होगी। वही गांधी स्टेडियम के शॉपिंग कामपलेक्स के दुकानदारों से भी कहा जाएगा कि वह अपने अपने वाहन दशहरे के दिन अन्य स्थान पर पार्क करें।

ऐसी होगी मैदान की सुरक्षा व्यवस्था

गांधी मैदान पर सुरक्षा व्यवस्था के पुलिस शानदार बंदोबस्त करेगी, महिला पुलिस विशेष रूप से यहां तैनात होंगी। इसके अलावा गांधी मैदान के सभी गेट खोले जाएंगे और फ्रेन्डस स्कूल साइड से भी गेट को खोला जाएगा। दो दमकल भी गांधी मैदान में मौजूद रहेगी।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!