भारत गौरव पर्यटक ट्रेन : रामायण यात्रा 24 अगस्त से रवाना, करे बुकिंग IRCTC से

भारत गौरव पर्यटक ट्रेन : रामायण यात्रा 24 अगस्त से रवाना, करे बुकिंग IRCTC से

भोपाल। माह जून 2022 मे रामायण यात्रा (Ramayana Yatra) के लिए चलायी गई पर्यटक ट्रेन की लोकप्रियता को देखते हुए आईआरसीटीसी (IRCTC) इस टूर का संचालन एक बार फिर से करने जा रही है। पर्यटक ट्रेन जनकपुर, नेपाल (Tourist Train Janakpur, Nepal) तक दोबारा ले जाई जाएगी।

यात्रा को और अधिक सुगम बनाने के लिए अयोध्या और वाराणसी में एक रात्रि का विश्राम जोड़ा गया है। रामायण यात्रा अब 18 दिनों की बजाय 20 दिनों मे पूरी की जाएगी।  24 अगस्त को दिल्ली सफदरजंग रेलवे स्टेशन (Delhi Safdarjung Railway Station) से 20 दिनों के टूर पर रवाना होगी ‘भारत गौरव’ एसी पर्यटक ट्रेन (‘Bharat Gaurav’ AC Tourist Train) ट्रेन में एसी तृतीय श्रेणी के कुल 10 कोच यात्रियों के लिए होंगे जिसमें कुल 600 यात्री यात्रा कर सकेंगे।

भारत गौरव ट्रेन (Bharat Gaurav AC Train) की इस यात्रा के लिए, आईआरसीटीसी (IRCTC) द्वारा यात्रियों को बुकिंग पर 15 % का डिस्काउंट भी दिया जाएगा। इस पर्यटक ट्रेन में पैन्ट्री कोच की सुविधा होगी, जिससे पर्यटकों को शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा। साथ ही इन्फोटेन्मेंट सिस्टम, सीसीटीवी कैमरा (cctv camera), सिक्युरिटी गार्ड (security guard)  इत्यादि की व्यवस्था भी उपलब्ध कराई जाएगी।

IRCTC

आईआरसीटीसी (IRCTC) ने टूर के बुकिंग प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए पेटीएम व रेज़रपे जैसी पेमेंट गेटवे संस्थाओं से करार किया है, जिससे भुगतान डेबिट/क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आसान किश्तों में किया जा सके।

प्रभु श्रीराम के जीवन से जुड़े तीर्थस्थलों की यात्रा करने के इच्छुक श्रद्धालुओं के लिए एक सुनहरा मौका है। जून माह मे श्री रामायण यात्रा के लिए चलायी गई भारत गौरव पर्यटक ट्रेन (‘Bharat Gaurav’ AC Tourist Train) की अति लोकप्रियता को देखते हुए, इस टूर का संचालन पुनः होने जा रहा है। भारतीय रेलवे के उपक्रम आईआरसीटीसी (IRCTC) ने इस ट्रेन को 24 अगस्त से दोबारा चलाने का निर्णय किया है।

पहले की भांति ही यह ट्रेन अयोध्या से नेपाल स्थित जनकपुर तक जाएगी। इस अनूठी यात्रा के दौरान यात्रियों को भारत के विविधताओं से भरपूर धार्मिक और विरासत स्थलों जैसे अयोध्या, जनकपुर, सीतामढ़ी, काशी, प्रयागराज, चित्रकूट, नासिक, हम्पी, रामेश्वरम, कांचीपुरम और भद्राचलम का दर्शन लाभ प्राप्त होगा। यात्रा को और अधिक सुगम बनाने के लिए इसकी अवधि को 18 दिनों से बढ़ाकर 20 दिनों का कर दिया गया है।

धार्मिक पर्यटन (Religious Tourism) को बढ़ावा देने के लिए आधुनिक साज सज्जा के साथ तैयार इस वातानुकूलित भारत गौरव ट्रेन का पहला पड़ाव प्रभु श्री राम का जन्म स्थान अयोध्या होगा जहां श्री राम जन्मभूमि मंदिर श्री हनुमान मंदिर व नंदीग्राम में भरत मंदिर का दर्शन कराया जाएगा।

अयोध्या से रवाना होकर यह ट्रेन जयनगर होते हुए जनकपुर तक जाएगी, जहां रात्रि विश्राम होगा व जानकी मंदिर और राम-जनकी विवाह स्थल का दर्शन कराया जाएगा। जनकपुर से सीतामढ़ी ले जाकर जानकी जन्म स्थान का दर्शन कराया जाएगा। सीतामढ़ी से चलकर यह ट्रेन बक्सर जाएगी जहां श्री विश्वामित्र जी का आश्रम व रामरेखा घाट पर गंगा स्नान का कार्यक्रम होगा। ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी होगा, जहां से पर्यटक बसों द्वारा काशी के प्रसिद्ध मंदिरों सहित सीता समाहित स्थल, प्रयाग, श्रृंगवेरपुर, व चित्रकूट की यात्रा करेंगे। इस दौरान काशी प्रयाग व चित्रकूट में रात्रि विश्राम होगा।

यह भी देखें : नहीं घूमे माता वैष्‍णो देवी तो IRCTC दे रहा हैं मौका जाने सम्‍पूर्ण जानकारी…

चित्रकूट से चलकर यह ट्रेन नासिक पहुंचेगी, जहां पंचवटी व त्रयंबकेश्वर मंदिर का भ्रमण किया जा सकेगा। नासिक के पश्चात प्राचीन किष्किंधा नगरी हंपी इस ट्रेन का अगला पड़ाव होगा जहां अंजनी पर्वत स्थित श्री हनुमान जन्म स्थल व अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक व विरासत मंदिरों का दर्शन कराया जाएगा। हम्पी के पश्चात रामेश्वरम इस ट्रेन का अगला पड़ाव होगा।

रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर व धनुषकोडी का दर्शन लाभ प्राप्त होगा। रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन कांचीपुरम पहुंचेगी, जहां शिव कांची, विष्णु कांची और कामाक्षी माता मंदिर का भ्रमण कराया जाएगा। इस ट्रेन का अंतिम पड़ाव तेलंगाना राज्य में स्थित भद्राचलम होगा, जिसे दक्षिण की अयोध्या के नाम से भी जाना जाता है। यह ट्रेन 20 वें दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी। इस दौरान ट्रेन द्वारा लगभग 8000 किलोमीटर की यात्रा पूरी की जाएगी।

इस पूर्णतया वातानुकूलित पर्यटक ट्रेन में ऐसी तृतीय श्रेणी के कोच होंगे। साथ ही आधुनिक किचन कार से यात्रियों को उनकी बर्थ पर ही शाकाहारी स्वादिष्ट भोजन परोसा जाएगा। ट्रेन में यात्रियों के मनोरंजन व यात्रा की जानकारी आदि प्रदान करने हेतु इन्फोटेन्मेंट सिस्टम भी लगाया गया है। स्वच्छ शौचालय के साथ ही सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड एवं सीसीटीवी कैमरे भी प्रत्येक कोच में उपलब्ध रहेंगे।

आईआरसीटीसी (IRCTC) ने इस 20 दिनों की यात्रा के लिए रु. 73,500/- प्रति व्यक्ति का शुल्क निर्धारित किया है। साथ ही बुकिंग पर 15% का डिस्काउंट भी दिया जाएगा। इस टूर पैकेज की कीमत में यात्रियों को रेल यात्रा के अतिरिक्त स्वादिष्ट शाकाहारी भोजन, बसों द्वारा पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था, गाइड व इंश्योरेंस आदि कि सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। सरकार/पीएसयू के कर्मचारी इस यात्रा पर वित्त मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर पात्रता के अनुसार एलटीसी सुविधा का लाभ भी उठा सकते हैं।

आईआरसीटीसी (IRCTC) ने इस टूर की बुकिंग प्रक्रिया को सुगम बनाने व ग्राहकों के लिए इसे और अधिक आकर्षक बनाने के लिए पेटीएम व रेज़रपे जैसी पेमेंट गेटवे संस्थाओं से करार किया है जिससे टूर की राशि का भुगतान आसान किश्तों में भी किया जा सके। भुगतान के लिए कुल राशि को 3, 6, 9, 12, 18 व 24 महीनों की किश्तों मे पूरा किया जा सकेगा। किश्तों मे भुगतान की यह सुविधा डेबिट व क्रेडिट कार्ड के माध्यम से बुकिंग करने पर उपलब्ध रहेगी।

यात्रा की पूरी अवधि के दौरान आईआरसीटीसी (IRCTC) की टीम स्वच्छता एवं स्वास्थ्य संबंधी सभी प्रोटोकॉल का ध्यान रखेगी एवं यात्रियों को सुरक्षित व चिंता मुक्त अनुभव देने का प्रयास करेगी। सभी कर्मचारियों की अच्छी तरह से जांच की जाएगी और प्रत्येक भोजन सेवा के बाद रसोई और रेस्तरां को साफ व सेनिटाइज किया जाएगा। इस यात्रा की बुकिंग के लिए 18 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के प्रत्येक यात्री को कॉविड के टीके का दोनों डोज लगा होना अनिवार्य होगा।

अधिक जानकारी के लिए यात्री आईआरसीटीसी (IRCTC) की वेबसाइट https://www.irctctourism.com पर जा सकते हैं और ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते हैं। बुकिंग की सुविधा आधिकारिक वेबसाइट पर, पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर उपलब्ध है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!