परिवहन एवं स्कूल शिक्षा मंत्री ने किया श्रीअन्न संवर्धन अभियान का शुभारंभ

परिवहन एवं स्कूल शिक्षा मंत्री ने किया श्रीअन्न संवर्धन अभियान का शुभारंभ

नर्मदापुरम। सेठानी घाट नर्मदापुरम (Sethani Ghat Narmadapuram) में प्रदेश के परिवहन एवं स्कूल शिक्षा मंत्री राव उदय प्रताप सिंह (Transport and School Education Minister Rao Uday Pratap Singh) ने श्री अन्न संवर्धन अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान सांसद दर्शन सिंह चौधरी (MP Darshan Singh Choudhary), राज्य सभा सांसद श्रीमती माया नारोलिया (Rajya Sabha MP Smt. Maya Narolia), विधायक सोहागपुर विजय पाल सिंह (MLA Sohagpur Vijay Pal Singh), कलेक्टर सोनिया मीना (Collector Sonia Meena), मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत नर्मदापुरम एसएस रावत (Chief Executive Officer District Panchayat Narmadapuram SS Rawat), उप संचालक कृषि जेआर हेडाऊ (Deputy Director Agriculture JR Hedau) व अन्य विभागों के जिला अधिकारी आदि उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि कृषि विभाग द्वारा श्री अन्न/मिलेट्स और श्री अन्न से निर्मित व्यंजनों तथा कोदो, कुटकी के उन्नत किस्मों के प्रामाणित बीज की प्रदर्शनी लगाई गई थी। कोदो, कुटकी, ज्वार, रागी आदि मोटे अनाज को सुपरफूड, मिलेटस, मोटा अनाज श्री अन्य के नाम से जाना जाता है। श्री अन्य उत्पादक कृषकों की क्षमता संवर्धन कोदो, कुटकी की विशिष्ट पैकेजिंग एवं ब्रांडिंग गतिविधियों के माध्यम से बेहतर विपणन व्यवस्था उपलब्ध कराते हुए उत्पादक कृषकों को फसल का उचित मूल्य दिलाने व श्री अन्न को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य को दृष्टिगत रखते हुए रानी दुर्गावती श्री अन्य प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ मंत्री श्री राव उदय प्रताप सिंह ने किया है। मंत्री श्री राव ने श्री मिलेट्स की प्रदर्शनी की भरपूर सराहना की। बता दें कि प्रदेश के पारंपरिक कृषि उत्पादों में श्री अन्न का विशेष स्थान रहा है। प्रचुर मात्रा में पोषक तत्वों से युक्त एवं ग्लूटेन मुक्त होने से श्री अन्न के प्रति वैश्विक रुझान उत्पन्न हुआ है।

संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations organisation) ने वर्ष 2023 को अंतर्राष्ट्रीय मिलेट वर्ष घोषित किया है। राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय बाजारों में श्रीअन्न से निर्मित उत्पादों की मांग में सतत् वृद्धि से प्रदेश के किसानों की आय में वृद्धि एवं श्री अन्न के विपणन क्षेत्र में विकास की अपार संभावनाएं परिलक्षित हो रही हैं। प्रदेश में श्री अन्न उत्पादन में संलग्न कृषकों कृषक उत्पादन संगठन/समूह को राज्य स्तरीय महासंघ के रूप में संगठित कर नवीन तकनीकी के उपयोग से श्री अन्न विशेषकर कोदो कुटकी एवं उसके प्रसंस्कृत उत्पादों को राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान स्थापित कराने के उद्देश्य से किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की ओर से योजना चलाई जा रही है।

योजना का मुख्य उद्देश्य एफपीओ द्वारा गठित फेडरेशन के माध्यम से श्री अन्न के लिए मूल्य श्रृंखला विकसित करना और कोदो कुटकी की खेती में संलग्न कृषकों की आय में वृध्दि करना है। किसानों को कोदो, कुटकी, ज्वार, एवं रागी के उन्नत प्रमाणित बीज शासकीय एवं सहकारी संस्थाओं के द्वारा प्रदान किया जाएंगे जिस पर 80 प्रतिशत वस्तु अनुदान होगा। किसानों को नवीनतम तकनीक दिखाने व सिखाने के लिए प्रशिक्षण तथा राज्य के अंदर वह बाहर भ्रमण कराया जाएगा।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!