ग्राम खटामा के पास चिखली के जंगल में आदिवासी परिवार से मारपीट

ग्राम खटामा के पास चिखली के जंगल में आदिवासी परिवार से मारपीट

इटारसी। ग्राम खटामा (Village Khatama)में संजीव दुबे (Sanjeev Dubey)के खेत के जंगल में जमानी (Zamani)निवासी परिवारों में संघर्ष के बाद पथरोटा (Pathrota)पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। दोनों पक्षों ने एकदूसरे के खिलाफ जमकर मारपीट की और फिर पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दोनों पक्षों पर मामला दर्ज किया है। इधर एक पक्ष की बसुबाई (Basubai)पति कन्हैया मर्सकोले (Kanhaiya Marsakole)ने बताया उनके और उनके पति कन्हैया पर ग्राम जमानी के लगभग आठ से दस पारदी लोगों ने हमला कर दिया। वे डर के मारे जंगल में भाग गये। उनके बच्चों को भी हमलावरों ने नहीं छोड़ा, उनके साथ भी मारपीट की गई है। उनकी शिकायत पर पथरोटा पुलिस ने लक्ष्मीचंद पारदी (Laxmichand Pardi), विनोद पारदी (Vinod Pardi), मन्नू पारदी (Mannu Pardi), कमलेश पारदी (Kamlesh Pardi), आसमा पारदी (Asma Pardi)और रंजना पारदी (Ranjana Pardi)निवासी जमानी के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट, गाली गलौच, जान से मारने की धमकी देने का प्रकरण पंजीबद्ध किया है। इधर दूसरे पक्ष से आसमा पति लक्ष्मीचंद ने भी बसुबाई और कन्हैया पर गालियां देने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने की शिकायत दर्ज करायी है।
आदिवासी संगठन आया साथ
आदिवासी परिवार के साथ हुई मारपीट के विरोध में आदिवासी सेवा समिति तिलक सिंदूर के पदाधिकारी नाराज हो गये। सूचना मिलने पर ग्राम चिकली स्थित जिस खेत में यह घटना हुई वहां बल्देव (Baldev), विनोद बारिवा (Vinod Bariva)ने पहुंचकर पीडि़त परिवार से बातचीत की। बताया जाता है कि बसुबाई, कन्हैयालाल, सालकराम (Salkaram), फूलवती (Phulwati)और बच्चों से मारपीट की है। समिति के मीडिया प्रभारी विनोद बारिवा ने बताया कि आदिवासी विकास परिषद के सुखराम कुमरे (Sukhram Kumre), खुमान (Khuman), दीपेश उईके (Deepesh Bawriya), दीपक बावरिया ( Deepak Bavaria), जितेन्द्र बावरिया (Jitendra Bavaria), अजीत बरकड़े (Ajit Barkade)आदि ने भी पीडि़त परिवार से मुलाकात की है।

CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW