अपडेट: सुलगे खेतों में भस्म हो गयी 500 एकड़ खड़ी फसल

अपडेट: सुलगे खेतों में भस्म हो गयी 500 एकड़ खड़ी फसल

जिला दंडाधिकारी के आदेश की ना-फरमानी कर रहे हैं किसान
इटारसी। मंगल का दिन कई किसानों के लिए अमंगलकारी रहा। जिले के कई खेतों में सुलगी नरवाई ने वो तांडव मचाया कि पांच सौ एकड़ की फसल भस्म कर दी। सबसे बड़ा नुकसान सोहागपुर (Sohagpur)तहसील में हुआ, जहां गोपालपुर, निभौरा, बांसखापा आदि गांव के किसानों की करीब साढ़े तीन सौ एकड़ फसल नरवाई की आग निगल गयी।
जिला दंडाधिकारी ने नरवाई में आग नहीं लगाने और दिन में भूसा मशीन नहीं चलाने के आदेश दो रोज पहले ही दिये थे, जिसकी नाफरमानी कई किसान कर रहे हैं और बेखौफ खेतों में मशीनों से भूसा बनाया जा रहा है, जिसकी एक चिंगारी खेतों में खड़ी गेहूं की फसल को बारूद की तरह जलाकर फसल को राख कर रही है। आज सोहागपुर, इटारसी (Itarsi) और बनखेड़ी (Bankhedi)के खेतों में कई एकड़ की फसल जलकर राख हो गयी जिससे किसानों को करोड़ों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है।

हवा ने बढ़ाई रफ्तार

मंगलवार को हवा की रफ्तार भी अन्य दिनों की अपेक्षा कई गुना तीव्र थी। आज एक ही दिन इतने बड़े रकबे में लगी आग का कारण यह भी माना जा रहा है कि अब तक होली पर्व के लिए रुका किसान अब मूंग की बोवनी की तैयारी कर रहा है और होली निकलते ही उसने नरवाई साफ करना प्रारंभ कर दिया है। उसी का नतीजा रहा है कि आज एक ही दिन में इतनी जगह आग लगी जिसे बुझाने प्रशासन को दिनभर खेतों में गुजारना पड़ा।

यहां अधिक नुकसान

सोहागपुर विकासखंड के गोपालपुर, निभौरा, डूडादेह, नयागांव, नीमनमूढ़ा के खेतों में हुआ है। यहां भूसा मशीन से और नरवाई से होकर आग गेहूं की खड़ी फसलों तक पहुंची है। इससे पहले पथरई और परसवाड़ा में भी खेत आग की चपेट में आ चुके थे। गेहूं की सूखी फसल आग में बारूद की तरह जलती है और प्रशासन तथा किसानों के संयुक्त प्रयास भी नाकाम साबित होते हैं। आज की घटना में भी संयुक्त रूप से किये प्रयास विफल हो गये।

हाईवे पर धुआं ही धुआ

नेशनल हाईवे 69 (National Highway 69)पर दोपहर में खेतों और नरवाई में लगी आग रोड के किनारे उगी झाडिय़ों में भी लग गयी और हरी झाडिय़ों में आग की लपटें पहुंची तो तेज धुआं के साथ झाडिय़ां भी जलने लगीं। हाई पर धुआं ही धुआ हो गया जिससे कुछ देर के लिए हाईवे पर गुजर रहे वाहन भी थम गये। आग रोड क्रास करके दूसरी तरफ के खेतों तक जा पहुंची और तेज हवा के कारण गतिमान होकर रैसलपुर तरफ से बड़ोदियाखुर्द तक जा पहुंची।

32 एकड़ के नुकसान का अनुमान

विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा (Dr. Seethasaran Sharma)ने आग की सूचना पर ग्राम में जाकर किसानों से मुलाकात की और प्रशासन के अधिकारियों से जल्द से जल्द सर्वे करके किसानों को मुआवजा प्रकरण तैयार करने को कहा। अपर कलेक्टर जीपी माली (GP Mali), इटारसी एसडीएम एमएस रघुवंशी (MS Raghuvanshi), होशंगाबाद तहसीलदार शैलेन्द्र बड़ोनिया (Shailendra Badonia), डीडीए जितेन्द्र सिंह (Jitendra Singh)आदि अधिकारी आगजनी के वक्त मौके पर थे, यहां आगजनी से करीब 32 एकड़ की फसल जलने का अनुमान है।

आज फिर आये आदेश

डीएम ने आज फिर आदेश निकाले हैं। प्रशासनिक अमले को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रहने को कहा है। डीएम धनंजय सिंह (Dhananjay Singh)ने एसडीओ राजस्व, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नपा सीएमओ को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए हैं। सभी सीईओ जनपद को निर्देशित किया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पानी के भरे टैंकर उपलब्ध रखें, टैंकर चालकों के मोबाइल नंबर किसानों, राजस्व निरीक्षक, पटवारी एवं कोटवारों को साझा किए जाए।
दमकल एवं अग्निशमन यंत्र तैयार रखें
कलेक्टर श्री सिंह ने नगर पालिका सहित एसपीएम एवं ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के दमकल वाहनों एवं अग्निशमन यंत्रों को तैयार रखने एवं उनका उचित मैनेजमेंट करने के निर्देश सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को दिए हैं। एसडीएम सहित अन्य राजस्व अधिकारियों को नरवाई में आग लगाने वालों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कड़ी वैधानिक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। किसानों से आग्रह किया है कि नरवाई में आग न लगायें।

CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!