VEDIO : दहशरे पर रावण और कुंभकर्ण के पुतले जले, महाआरती भी हुई

VEDIO : दहशरे पर रावण और कुंभकर्ण के पुतले जले, महाआरती भी हुई

इटारसी। गांधी मैदान और वीर सावरकर मैदान में रावण और कुंभकर्ण के पुतलों के दहन के साथ ही पिछले दस दिनों से चल रहे श्रीराम लीला एवं दशहरा महोत्सव का समापन हो गया। हजारों की संख्या में दशहरा पर्व में शामिल हुए लोगों की मौजूदगी में श्रीराम-रावण युद्ध के बाद करीब चालीस फीट ऊंचाई के रावण और कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया गया।

गांधी मैदान में दशहरा उत्सव में दर्शकों के बीच विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पंकज चौरे, नगर पालिका परिषद के पूर्व अध्यक्ष रविकिशोर जायसवाल, उपाध्यक्ष निर्मल सिंह राजपूत सहित अनेक पार्षद सभापति भी मौजूद रहे। मैदान में किसी ने कोई उद्बोधन नहीं दिया। आचार संहिता के कारण सभी आमजन की तरह ही शामिल हुए।

मां की शक्ति प्राप्त की

शहर के दशहरा उत्सव की परंपरा है कि रावण वध के पूर्व श्रीराम, लक्ष्मण और हनुमान मां भगवती की पूजा करके उनसे शक्ति प्राप्त करते हैं, इसके बाद राम-रावण युद्ध होता है और फिर रावण का वध किया जाता है। यहां गुरुद्वारा भवन में आठ दशक से भी पूर्व से स्थापित की जाने वाली माता महाकाली की प्रतिमा और दुर्गा चौक मंदिर में विराजीं माता दुर्गा की प्रतिमाएं लायी जाती हैं और श्रीराम-लक्ष्मण और हनुमान उनकी पूजा अर्चना करके शक्ति प्राप्त करते हैं।

महाआरती पहली बार हुई

श्रीराम लीला एवं दशहरा उत्सव के इतिहास में इस वर्ष पहली बार नगर के लोगों ने महाआरती में भी शिरकत की। माता महाकाली समिति गुरुद्वारा के सदस्यों ने इस वर्ष महाआरती का आयोजन किया। होशंगाबाद से महाआरती के ब्राह्मण बुलाये गये थे। नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे, उपाध्यक्ष निर्मल सिंह राजपूत ने श्रीराम, लक्ष्मण और हनुमान के साथ माता महाकाली और मां दुर्गा की आरती। दो आरती हुईं जिसमें हजारों महिला-पुरुष, बच्चे शामिल हुए।

शिव और हनुमान रहे

आकर्षण का केन्द्र माता महाकाली की मूर्ति के सामने भगवान भोलेनाथ की सुंदर झांकी थी, यह पहली बार था। इसे भी लोगों ने देखा और सराहा। भगवान शिव के साथ उनके गण भी झांकी में शामिल रहे। विशालकाय हनुमान बने पात्र पूरे मैदान में घूमते रहे जो बच्चों के लिए आकर्षण का केन्द्र रहे। युवाओं ने उनके साथ सेल्फी ली। मैदान में घूमते कलाकार को लोगों ने दूसरी बार देखा। इससे पूर्व हनुमान जयंती पर भी स्वनेश्वर मंदिर की शोभायात्रा में देखा था।

राज्याभिषेक के साथ समापन

श्रीराम लीला दशहरा उत्सव में श्रीराम राज्याभिषेक के साथ समापन हो गया। भगवान श्रीराम की आरती, पूजन विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पंकज चौरे, मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्रीमती रितु मेहरा और अन्य लोगों ने की। इन सभी ने श्रीराम का राजतिलक भी किया। गांधी मैदान में हुए इस कार्यक्रम के बाद पुरानी इटारसी में वीर सावरकर मैदान में हुए दशहरा उत्सव में भी हजारों लोगों ने रावण के पुतले का दहन देखा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!