कोरोना से बेखौफ बाजार, लॉकडाउन का उल्लंघन बार-बार

कोरोना से बेखौफ बाजार, लॉकडाउन का उल्लंघन बार-बार

इटारसी। शहर के फल विक्रेताओं(Fruit sellers) ने पुन: नियमों को ताक पर रखकर मनमर्जी से काम करना शुरु कर दिया है। बीच रोड पर कब्जा करके फल बेचने, महिलाओं पर गंदे कमेंट करने और ग्राहकों से विवाद करने जैसे आरोप उन पर लगते रहे हैं। लेकिन अब लॉकडाउन(Lockdown) में प्रशासन ने सख्ती दिखाई तो कुछ दिन सबकुछ नियम से चलाए। इस रविवार प्रशासन के किसी आदेश का पालन नहीं करके बड़ी संख्या में फल विक्रेताओं ने दिनभर हाथठेलों पर दुकानें लगाए रखीं। हालांकि सुबह से बाजार की अन्य कुछ दुकानें और खुली थीं, लेकिन सोशल मीडिया(Social media) पर फोटो आने के बाद कई दुकानदारों ने शटर गिराकर पिछले दरवाजे से अपना कारोबार जारी रखा। प्रशासन द्वारा बाजार में दी गई ढील का बेजा फायदा इस रविवार कुछ दुकानदारों ने उठाया। खासकर फल विक्रेता प्रशासन के आदेश की धज्जियां उठाते नजर आए। टोटल लॉकडाउन के बावजूद रेलवे स्टेशन से लेकर फल बाजार तक जगह-जगह फल विक्रेता बेखौफ होकर फल बेचते रहे। इस दौरान सभी फल विक्रेताओं ने मास्क से दूरी बनाए रखी। किसी के भी मुंह पर मास्क नहीं दिखा। इक्का-दुक्का फल विक्रेताओं ने गले में जरूर मास्क लटकाकर था। यही हाल बाजार की सारी गलियों का था।

कुछ दिन के बाद नहीं दिखी टीम
जब भी अखबारों में खबरें आती हैं, या फिर सोशल मीडिया पर चर्चा होती है तो नगर पालिका का राजस्व अमला दो-तीन दिन बाजार में आकर बिना मास्क वालों की रसीदें काटकर चला जाता है। फिर वे लौटकर नहीं आते है तो क्या दुकानदार और क्या ग्राहक सब बिना मास्कए बिना फिजिकल डिस्टेंसिंग के नजर आते हैं। समोसा-कचोरी, चाट-फुलकी के विक्रेता तो मास्क लगाना शान के खिलाफ समझते है। उनको किसी ग्राहक ने मास्क की याद दिलायी तो वे लडने को तत्पर हो जाते हैं। अब प्रशासन की ओर से कोई भी अधिकारी-कर्मचारी व्यापारियों को समझाइस देने नहीं आ रहा। ऐसे में रविवार को दुकानें खोलने वाले दुकानदारों के हौसले बुलंद होते हैं। आपकों बता दें कि प्रशासन ने प्रत्येक रविवार को टोटल लॉकडाउन का दिन निर्धारित किया है। ऐसे में फल विक्रेताओं द्वारा दिनभर बाजार लगाना प्रशासन का मखौल उड़ाने जैसा है। गौरतलब है कि शहर में लगातार कोरोना के केस मिल रहे हैं। ऐसे में टोटल लॉक डाउन का उल्लंघन करना किसी जोखि़म से कम नहीं है। एसडीओ राजस्व का कहना है कि सूचना मिलने पर पुलिस भेजकर कार्रवाई करायी है। लेकिन, पुलिस ने कैसी कार्रवाई की हैए क्योंकि हाथठेलों पर तो सारा दिन फल विक्रेता बाजार में बैठे रहे।

इनका ये कहना है
हां, हमें बाजार खुलने की सूचना मिली थी और सूचना मिलते ही हमने पुलिस भेजकर कार्रवाई करायी है।
सतीश राय, एसडीएम

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: