आन बसो मन मंदिर में, पट खोलकर बैठा है एक पुजारी
Virtually Poetry Evening Organized

आन बसो मन मंदिर में, पट खोलकर बैठा है एक पुजारी

वर्चुअली काव्य सन्ध्या का आयोजन किया

होशंगाबाद। साहित्य पटल की अग्रिम प्रेमसुधा पहल त्रैमासिक पत्रिका की ओर से वर्चुअली काव्य सन्ध्या का आयोजन किया गया। प्रधान संपादक प्रवीण आर्यवर्ती सम्पादक श्रीमति अनामिका गुप्ता व मंच संचालन रजनीश दुबे धरतीपुत्र ने किया। अनामिका गुप्ता सतना, रजनीश दुबे धरतीपुत्र होशंगाबाद, प्रमोद रघुवंशी नर्मदांचल, ऋचा उपाध्याय बेंगलोर, पूजा महाजन दिल्ली, किरण शर्मा रायपुर, प्रेरणा पांडेय पटना,आदर्श कुमार दिल्ली, विनोद कुमार हँसोडा दरभंगा, ताराचंद वर्मा राजस्थान, बीना खंडूरी, श्रेया पाठक जम्मू, अजय सिंह, सोमबीर कौशिक, अविनाश मिश्र अंजान,
लक्ष्मी जी पर्थ आस्ट्रेलिया, नूतन कुमारी, अनिता झा, सीमा त्रिपाठी, शिवांश त्रिपाठी, सोमबीर कौशिक व आभा मिश्रा आदि ने अपने काव्यपाठ में देशभक्ति पूर्ण रचनाओं से ले कर रामायण की अनन्य रचनाओं से परिपूर्ण काव्य सन्ध्या को सफल बनाया। संचालन रजनीश दुबे एवं अनामिका गुप्ता का रहा।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!