BREAK NEWS

बाढ़ प्रबंधन में जिले की तारीफ कर गये जल संसाधन मंत्री

बाढ़ प्रबंधन में जिले की तारीफ कर गये जल संसाधन मंत्री

– प्रदेश के 27 बांधों की सुरक्षा के लिए वर्ल्ड बैंक से लिए 540 करोड़ रुपए
– बाढ़ आपदा नियंत्रण के लिए जलसंसाधन विभाग सजग और सक्रिय
इटारसी। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट (Water Resources Minister Tulsiram Silavat) ने कहा है कि नर्मदापुरम (Narmadapuram) में बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में हैं। यहां निरंतर हुई भारी वर्षा के बावजूद तवा (Tawa), बारना (Barna) एवं बरगी डेम (Bargi Dam) से तकनीकी ढंग से पानी छोड़कर बाढ़ की स्थिति को निर्मित होने से रोका है। उन्होंने कहा कि बाढ़ नियंत्रण एवं राहत व बचाव कार्य के लिए प्रदेश सरकार गंभीर है। प्रदेश के विदिशा (Vidisha), रायसेन (Raisen) आदि विभिन्न जिलों में बाढ़ आपदा से प्रभावित लोगों को हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाएगी।
जल संसाधन मंत्री श्री सिलावट ने यह बात आज नर्मदापुरम (Narmadapuram) के तवा डैम (Tawa Dam) के निरीक्षण के दौरान कहीं। इस अवसर पर विधायक सिवनी मालवा प्रेमशंकर वर्मा, मुख्य अभियंता जलसंसाधन विभाग शिशिर कुशवाह, कार्यपालन यंत्री वीके जैन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। मंत्री श्री सिलावट ने बेहतर बाढ़ मैनेजमेंट के लिए संभागायुक्त नर्मदापुरम, कलेक्टर नर्मदापुरम, कलेक्टर हरदा को बधाई दी।
मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में बाढ़ आपदा की स्थिति एवं राहत व बचाव कार्य की निरंतर मॉनिटरिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर स्वयं मोर्चा संभाले हुए हैं। अतिवृष्टि से उत्पन्न हुए संकट से जनता को उबारने में प्रदेश सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। मंत्री श्री सिलावट ने तवा बांध पहुंचकर बांध की संरचना का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि तवा बांध की स्थिति सुखद हैं। 1978 में निर्मित बांध बेहतर स्थिति में हैं। अच्छी वर्षा के चलते इस बार लगभग 78 बार ऑपरेट किया है। उन्होंने कहा कि तवा बांध से नर्मदापुरम के लगभग 1 हजार ग्राम लाभान्वित होते हैं। तवा बांध से लगभग 82 हजार हैक्टेयर का क्षेत्र सिंचित होता है जिससे बंपर मूंग उत्पादन के साथ ही किसानों को 8800 करोड़ रुपए का फायदा भी पहुंचा है।
मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि तवा बांध पर स्थित कंट्रोल में हैं। बांध की कुल क्षमता मात्रा 19 सौ मिलियन क्योमैक्स है जिसकी तुलना में बांध में वर्तमान में 1807 मिलियन क्योमैक्स भरा हुआ है जो कि कुल क्षमता का 93 प्रतिशत हैं। वैज्ञानिक ढंग से पानी को बांध से छोड़ा जा रहा हैं। मंत्री सिलावट ने बताया कि प्रदेश के कुल 27 बांधों की सुरुक्षा के लिए वर्ल्ड बैंक से 540 करोड़ रुपए लिए हैं। बाढ़ आपदा नियंत्रण के लिए जल संसाधन विभाग सजग और सक्रिय हैं। टीम निरंतर मैदानी स्तर पर कार्य कर रही हैं।
जल संसाधन मंत्री श्री सिलावट ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर तवा बांध की स्थित एवं कार्ययोजना की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को बेहतर तरीके से बांध का पानी रेगुलेट करने के निर्देश दिए ताकि नर्मदा नदी में बाढ़ की स्थिति निर्मित न हो।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!