नवरात्रि 2022 : जाने किस दिन कौन-सा रंग पहनना होता है शुभ?

नवरात्रि 2022 : जाने किस दिन कौन-सा रंग पहनना होता है शुभ?

नवरात्रि में किस दिन कौन सा रंग पहनने से ग्रह दोष से मुक्ति हो सकते हैं जानें? 

शारदीय नवरात्रि

हिंदू धर्म में शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व होता है नवरात्रि में 9 दिनों के लिए मां दुर्गा की प्रतिमा को घरों मंदिरो में स्थापित कर मां दुर्गा के नाम की अखंड ज्योति जलाई जाती है। और मां दुर्गा की विधि-विधान से पूजा की जाती हैं। नवरात्रि के इस पावन पर्व के दौरान 9 दिनों तक मां दुर्गा के अलग-अलग नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है अंत में दशमी तिथि के दिन को दशहरा के रूप में मना कर रावण का दहन किया जाता है। इस बार शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर 2022 से शुरू होगी और 5 अक्टूबर को समाप्त होगी।

जानें नवरात्रि में किस दिन कौन सा रंग के कपडें पहनने से ग्रह दोष से मुक्ति हो सकते हैं?

नवरात्रि

पहला दिन माता शैलपुत्री की पूजा: नवरात्रि के पहले दिन माता शैलपुत्री की पूजा की जाती है। इस दिन पूजा में समय सफेद और गुलाबी रंग के कपड़े पहनने चाहिए। माता शैलपुत्री को यह रंग बहुत प्रिय होता हैं इससे चंद्रग्रह के शुभ प्रभाव में वृद्धि होती है और आपके सोचने और कलात्मक शक्ति में विकास होता हैं।

दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी की पूजा:- नवरात्रि के दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है। माता ब्रह्मचारिणी की पूजा के समय केसरिया और नारंगी रंग के कपडे पहनने चाहिए। यह रंग माता ब्रह्मचारिणी का पंसदीदा रंग होता हैं दूसरे दिन यह रंग से आपको शुभ समाचार मिलेगा मिलेगा साथ ही मंगल दोष से भी मुक्ति मिलेगी।

तीसरे दिन माता चंद्रघंटा की पूजा:- नवरात्रि के तीसरे दिन माता चंद्रघंटा के स्वरूप की पूजा की जाती है। मां चंद्रघंटा की पूजा समय आप हरे और लाल रंग के वस्त्र पहनने चाहिए हैं। इस रंग को पहनने से मा बुध ग्रह के शुभ प्रभाव में वृद्धि होगी। और यदि आपकी कुंडली में बुध प्रतिकूल प्रभाव में है तो उससे मुक्ति मिलेगी।

चौथे दिन माता कुष्मांडा की पूजा:- नवरात्रि के चौथे दिन माता कुष्मांडा की पूजा की जाती है। माता कुष्‍मांडा को ही आधी शक्ति माना जाता हैं। मां कुष्‍मांडा का वास सूर्यमंडल के बीच में हैं। इनकी पूजा के समय पीले और नारंगी रंग के वस्‍त्र पहनने चाहिए। इन रंग के वस्‍त्र पहन कर पूजा करने से आपको शुभ परिणाम मिलेंगे साथ ही गुरु का शुभ प्रभाव भी आप पर बना रहेगा। इस बार नवरात्रि में मां हाथी पर सवार होकर आयी है जो बहुत ही शुभ माना जाता है।

पाँचवा दिन माता स्कंदमाता की पूजा:- नवरात्रि के पांचवे दिन माता स्कंदमाता की पूजा की जाती है। इनकी पूजा के समय आपको ग्रे और सिल्वर रंग के कपडे पहनने चाहिए। ऐसे करने से पारिवारिक जीवन में शांति बनी रहती है। साथ ही शुक्र देव के प्रभाव में वृद्धि होगी।

छटवां दिन माता कात्यानी की पूजा:- नवरात्रि के छटवें दिन माता कात्यानी की पूजा की जाती है। माता कात्‍यानी की पूजा करते समय आपको लाल और गुलाबी रंग के वस्त्र धारण करना चाहिए। ऐसा करने से आपको धन लाभ होगा साथ ही शनिग्रह का प्रतिकूल प्रभाव बढ़ेगा। और इस दिन काले और नीले रंग के वस्त्र बिल्‍कुल भी नहीं पहनने चाहिए। माता कत्‍यानी ने ही महिषासुर का वध किया था।

सातवां दिन माता कालरात्रि की पूजा:- नवरात्रि के 7वें दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है। माता कालरात्रि की पूजा के समय हरे और बैगनी रंग के वस्त्र धारण करने शुभ माना जाता है। माता कालरात्रि की पूजा मे इस रंग के कपड़े पहनने से आपको अलग ऊर्जा और उत्साह का अनुभव होगा। साथ ही अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य कमजोर हैं तो इस रंग के वस्त्र धारण करने से उन्हें लाभ होगा।

आठवां दिन माता महागौरी की पूजा:- नवरात्रि के आठवें दिन माता महागौरी की पूजा की जाती है। इनकी पूजा के समय सफेद रंग के वस्त्र धारण करने चाहिए। इस दिन यह सफेद रंग के वस्‍त्र पहनने से आपको आनंद की प्राप्ति होगी। और यदि आप पर चंद्रमा दोष है तो इससे आपको मुक्‍ति मिलेगी।

नावें दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा:- नवरात्रि के नावें दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है इस दिन रेड या मैरून रंग के कपड़े पहनने चाहिए। इस रंग को पहनकर माता की पूजा करने से आपको मंगल दोष मुक्ति मिलेगी।

यह भी पढें : शारदीय नवरात्रि 2022 : जाने मां दुर्गा को प्रसन्न करने के मंत्र और विशेष पूजन विधि

नोट : इस पोस्‍ट मे दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्‍यताओं और  जानकारियों पर आधारित हैं। www.narmadanchal.com विश्वसनीयता की पुष्‍टी नहीं करता हैं। किसी भी जानकारी और मान्‍यताओं को मानने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!