चार घंटे से भी अधिक समय तक ठप रहा डीजल शेड में काम

चार घंटे से भी अधिक समय तक ठप रहा डीजल शेड में काम

अफसर के रवैया से खफा कर्मचारियों ने किया काम बंद

इटारसी। डीजल शेड न्यूयार्ड (Diesel Shed New York) में कर्मचारियों ने आज बुधवार को दोपहर करीब चार घंटे तक हंगामा किया। दरअसल, कर्मचारियों ने करीब दो माह पूर्व यहां पदस्थ हुए सीनियर डीएमई अजय ताम्रकार (Senior DME Ajay Tamarkar) पर मनमानी, कर्मचारियों से बदसलूकी और गलत ढंग से चार्जशीट थमाने को लेकर काम बंद कर रैली निकाली और अपने व्यवहार के लिए माफी मांगने की मांग की। अधिकारी का विरोध कर रहे कर्मचारियों ने जमकर नारेबाजी की। अधिकारियों ने कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन कर्मचारी अपनी मांग पर अड़े रहे। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से आरपीएफ यार्ड पोस्ट (RPF Yard Post) के जवान भी मौके पर पहुंच गए। रेलवे के दोनों प्रमुख संगठनों के 150 से ज्यादा कर्मचारियों शेड में नारेबाजी कर अफसर से माफी मांगने की मांग करते रहे।

ये बताया घटना का कारण
कर्मचारी संगठनों के अनुसार शेड में पदस्थ सीनियर टीएससी अनुभाग के एसएसई एवं प्रशिक्षण केंद्र के पूर्व प्रभारी इनामुल हक (Former in-charge Inamul Haque) का निरीक्षण के दौरान सीनियर डीएमई अजय ताम्रकार (Senior DME Ajay Tamarkar) से किसी बात पर विवाद हो गया। ताम्रकार ने उन्हें लापरवाही करने पर फटकार लगायी। इस बात पर कर्मचारी नाराज हुए और मुख्य द्वार पर जमा होकर नारेबाजी करने लगे। जानकारी मिलने पर सीनियर डीएमई ताम्रकार भी मौके पर पहुंचे। उनके खिलाफ वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ (West Central Railway Mazdoor Union), वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन (West Central Railway Employees Union) एवं एससी-एसटी यूनियन (SC-ST Union) भी कर्मचारियों के साथ हो गईं।

बेवजह परेशान करने का आरोप
संघ के डीजल शाखा अध्यक्ष मनोज रायकवार (Diesel Branch President Manoj Raikwar) ने कहा कि जब से ताम्रकार ने चार्ज लिया है, वे लगातार कर्मचारियों को बेवजह परेशान कर रहे हैं, मामूली बात पर चार्जशीट थमाई जा रही है। लंच पर जाने वाले कर्मचारियों के देरी से आने पर ताला डाल दिया जाता है। दो माह बाद इमामुल हक का रिटायर्डमेंट है, इतने सीनियर अधिकारी के साथ भी उन्होंने अभद्रता की। उनकी कार्यप्रणाली को लेकर कर्मचारियों में नाराजी है। कर्मचारी संगठनों ने कहा कि ताम्रकार उनकी समस्याओं का ज्ञापन लें और जवाब भी दें, लेकिन ताम्रकार ने ज्ञापन लेने से मना कर दिया, इस पर कर्मचारी भड़क गए। कर्मचारियों ने पैदल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया।

शेड प्रबंधन का कहना
डीजल शेड प्रबंधन का कहना है कि ईमानदार कर्मचारियों के साथ किसी भी तरह का अभद्र व्यवहार नहीं किया जा रहा है। लंबे समय से शेड का काम ठप है, काम में तेजी लाने, कर्मचारियों से अधिकतम एवं बेहतर उत्पादन लेने, कर्मचारियों की मनमानी पर अंकुश लगाने ताम्रकार प्रयास कर रहे हैं, उनका सख्त रवैया इसी वजह से कर्मचारियों को रास नहीं आ रहा है। लंच पर कर्मचारी 15 मिनट की जगह एक से डेढ़ घंटे में आते हैं। कई कर्मचारी कैंटीन एवं अन्य जगह टाइम पास करते हैं। सीनियर डीएमई का मानना है कि सारे कर्मचारी पूरी ईमानदारी से शेड में काम करें, किसी भी तरह की लापरवाही न हो, इससे रेलवे का विभागीय काम और उत्पादन अच्छा हो सके, इसी वजह से उन्होंने कुछ नए नियम कायदे तय किए हैं, इसी सख्ती को लेकर उनका विरोध हो रहा है। बुधवार को भी एक अधिकारी ने लंच पर देरी से आने वाले कर्मचारियों के लिए गेट में ताला डाल दिया था, कुछ कर्मचारियों के फोटो लेकर उन्हें नोटिस भी थमाए जा रहे हैं, इस कार्रवाई को लेकर कर्मचारी संगठन लामबंद हो गए हैं। विरोध के दौरान कर्मचारियों ने कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन भी नहीं किया और सैकड़ों कर्मचारी सामूहिक रूप से एकत्र होकर हंगामा करते रहे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW