BREAK NEWS

विश्व आदिवासी दिवस : ‘महुआ झरे’ गीत पर जमकर थिरके आदिवासी

विश्व आदिवासी दिवस : ‘महुआ झरे’ गीत पर जमकर थिरके आदिवासी

इटारसी। विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर आज आदिवासी समाज ने जुलूस निकाला जिसमें सैंकड़ों की संख्या में आदिवासी युवा, महिला-पुरुष और बच्चे शामिल हुए। युवा हाथ में तीन-कमान लेकर चल रहे थे तो युवतियों ने घोड़ों की लगाम संभाल रखी थी। पीले वस्त्रों में आदिवासी समाज ने गोंडी मोहल्ला पुरानी इटारसी में बड़ा देव का पूजन करने के बाद जुलूस निकाला।
आज 9 अगस्त को नगर इटारसी में विश्व आदिवासी दिवसपर आदिवासी समाज संगठन के बैनर तले गोंडी मोहल्ला पुरानी इटारसी से महारैली प्रारंभ हुई। समाज की महिलाओं और युवतियों ने आदिवासी गीत ‘महुआ झरे’ पर जमकर पारंपरिक नृत्य किया। समाज के युवा आदिवासी समाज के समर्थन में नारे लगा रहे थे।

यह रैली पुरानी इटारसी से ओवरब्रिज होकर पुलिस स्टेशन के सामने से पहली लाइन होकर लाइन क्षेत्र में पहुंची। तीसरी लाइन में नवनिर्वाचित नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे, पार्षद राकेश जाधव, मनजीत कलोसिया, पुरानी इटारसी नगर मंडल भाजपा अध्यक्ष मयंक महतो, भाजपा जिला महामंत्र मुकेशचंद्र मैना, बेअंत सिंह बंजारा, हन्नू बंजारा, गोपाल शर्मा, नगर महामंत्री राहुल चौरे, देवेन्द्र पटेल सहित अनेक पार्टी नेताओं ने जुलूस में शामिल आदिवासियों पर पुष्प वर्षा करके स्वागत किया।
आदिवासी समाज का जुलूस यहां से बाजार क्षेत्र का भ्रमण करते हुए सराफा बाजार, नीमवाड़ा होकर जयस्तंभ पहुंचा। यहां भी जुलूस का स्वागत किया। इसके बाद पंडित भवानी प्रसाद मिश्र ऑडिटोरियम पहुंचकर जुलूस का समापन किया। ऑडिटोरियम में विश्व आदिवासी दिवस का मुख्य समारोह आयोजित हो रहा है।

पुरानी इटारसी में स्वागत

विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष्य में निकाले जुलूस के सूत्रधार प्रदेश सचिव आदिवासी छात्र संगठन आकाश कुशराम एवं उनके साथियों का स्वागत पुरानी इटारसी वार्ड नंबर 3 से प्रारंभ होने के वक्त भारतीय जनता पार्टी के नेता डॉ. मेजर पीएम पहारिया के नेतृत्व में रैली का स्वागत माला एवं पुष्प वर्षा से किया। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे, मंडल अध्यक्ष मयंक महतो, जिम्मी कैथवास एवं किशन यादव, प्रवीण शुक्ला, कमल हासले, गोविंद महतो, मनीष गालर, मुकेश राय, अजय पटेल, असेन्द्र दुबे , मिथिलेश मनवारे, मोहन सिंह राजपूत, कृष्णा बामने आदि उपस्थित रहे। इसके साथ ही नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे, मंडल अध्यक्ष मयंक महतो एवं डॉक्टर मेजर पीएम पहारिया द्वारा हर घर तिरंगा, घर-घर तिरंगा, आजादी के अमृत महोत्सव अभियान के अंतर्गत भाई आकाश कुशराम एवं साथी गणों को तिरंगा भेंट किया गया।

क्यों मनाया जाता है आदिवासी दिवस

हर वर्ष विश्व आदिवासी दिवस आबादी के अधिकारों को बढ़ावा देने और उनकी सुरक्षा के लिए 9 अगस्त को मनाया जाता है। यह पहली बार संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने दिसंबर 1994 में घोषित किया था। 1982 में मानव अधिकारों के संवर्धन और संरक्षण पर संयुक्त राष्ट्र कार्य समूह की मूलनिवासी आबादी पर संयुक्त राष्ट्र कार्य समूह की पहली बैठक का दिन। खासकर इसे भारत के आदिवासी धूमधाम से मनाते हैं, रैली निकाली जाती है और मंच में आदिवासी परंपरा के अनुरूप कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a web developer who is working as a freelancer. I am living in Saigon, a crowded city of Vietnam. I am promoting for http://sneeit.com

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!