पांच माह बाद पत्नी की हत्या का आरोपी गिरफ्तार

पांच माह बाद पत्नी की हत्या का आरोपी गिरफ्तार

इटारसी। सिटी पुलिस ने करीब पांच माह से फरार पत्नी की हत्या के आरोपी को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया जब वह फरारी में कई जगह भटकने के बाद इटारसी आया था। सूचना मिलते ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। मामले के चार अन्य आरोपी पहले ही गिरफ्तार किये जा चुके हैं।
मिली जानकारी के अनुसार करीब पांच माह पूर्व 17 अगस्त 2019 को विजय सिंह भदौरिया उर्फ हाथी पिता इंदल सिंह ने सिटी थाने में अपनी पत्नी की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करायी थी। उसके अनुसार उसकी पत्नी रीमा भदौरिया बिना बताये घर से लापता है। इसके बाद 21 अगस्त को इंदिरा सागर डैम के बैकवाटर में एक शव मिला था जिसकी शिनाख्त उसके परिजनों ने रीमा भदौरिया के रूप में की थी। रीमा के शव की शिनाख्त होने के बाद इस मामले में उस समय सनसनी फैल गई जब यह पता चला कि पति विजय भदौरिया थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद अपने बच्चों को लेकर लापता हो गया है।
इटारसी के पोटरखोली निवासी विजय भदौरिया उर्फ हाथी मूल रूप से भिंड का रहने वाला है। उसकी पत्नी रीमा भदौरिया का शव हरदा में हंडिया के पास डैम के बैकवाटर में मिला था। इस मामले में महिला के चचेरे भाई मुनेंद्र सिंह ने अपनी बहन की हत्या की आशंका जतायी थी। मुनेंद्र ने बताया था कि 16 अगस्त को दोपहर में रीमा और विजय दोनों से बात हुई थी और शाम को फोन करके विजय ने बताया कि रीमा लापता हो गई है। 16 अगस्त को विजय ने थाने में जाकर सूचना दी थी कि उसकी पत्नी रीमा लापता हो गई है। उसकी गुमशुदगी पुलिस ने 18 अगस्त को दर्ज की। विजय ई-केटरिंग का काम करता था उसके तीन बच्चे हैं। रीमा और विजय का विवाह करीब छह साल पहले हुआ था। पुलिस को सूचना देने के बाद बच्चों के साथ विजय गायब हो गया था।

यह कहानी आयी थी सामने
21 अगस्त को हरदा के हंडिया में इंदिरा सागर बांध के बैकवाटर में अज्ञात महिला का शव मिला था। दूसरे दिन महिला की शिनाख्त इटारसी के विजय सिंह की पत्नी रीमा भदौरिया से हुई थी। बजरंगपुरा के कैथवास निवास में रहने वाले वेंडर विजय सिंह ने उसकी पत्नी रीमा भदौरिया को सलकनपुर ले जाने का बहाना बनाकर साथ ले गया। इसके बाद विजय ने उसकी पत्नी रीमा को धोखा देकर नर्मदा नदी में धक्का दे दिया। तेज बारिश के कारण नर्मदा नदी उफान पर थी। आरोपी विजय को लगा कि तेज बहाव में बह जाएगी और लाश नहीं मिलेगी। 16 अगस्त को विजय ने थाने में जाकर सूचना दी थी कि उसकी पत्नी रीमा लापता हो गई है। उसकी गुमशुदगी पुलिस ने 18 अगस्त को दर्ज की। रीमा और विजय का विवाह छह साल पहले हुआ था। पुलिस को सूचना देने के बाद बच्चों को लेकर विजय लापता हो गया था और इसके बाद से ही वह फरार था। इस मामले में पति विजय सिंह, चाचा ससुर सुनील सिंह और मूलपाल सिंह, चाची सास मूलपाल की पत्नी और सुनील का पुत्र विक्की पर हत्या और दहेज प्रताडऩा का मामला दर्ज किया था। आरोपियों द्वारा रीमा से दहेज के लिए मारपीट की जाती थी।

इनका कहना है…!
अभी आरोपी से सामान बरामद करना है। अभी अवैध संबंधों को लेकर हत्या करने की जानकारी मिल रही है। रीमा का शव डैम के बैकवाटर में मिलने के बाद से ही विजय हाथी फरार था। इस दौरान इसकी तलाश मुंबई, पूना, डोंड आदि में की गई। कल सूचना मिली थी कि वह इटारसी आया है, तो तत्काल उसे जाकर गिरफ्तार कर लिया है।
राघवेन्द्र सिंह चौहान, टीआई

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
%d bloggers like this: