सीएम का पुतला दहन : चारों भाजपायियों को जमानत

सीएम का पुतला दहन : चारों भाजपायियों को जमानत

इटारसी।जयस्तंभ चौक पर प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को एसडीएम द्वारा अपात्र घोषित करने के विरोध में चल रहे धरने के दौरान कांग्रेसियों से हुए विवाद के बाद पुलिस ने मुख्यमंत्री का पुतला जलाने का प्रकरण जिन चार भाजपा कार्यकर्ताओं पर बनाया था, उन सभी को हाईकोर्ट से आज जमानत मिल गयी है। चारों की ओर से प्रकरण में हाईकोर्ट के सीनियर एडवोकेट मनीष दत्त ने दलीलें पेश कीं।
उल्लेखनीय है कि 31 जनवरी को कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच बड़ा पॉलिटिकल ड्रामा हुआ था। भाजपा ने जयस्तंभ चौक पर प्रधानमंत्री आवास योजना में भेदभाव को लेकर एसडीओ राजस्व के खिलाफ धरना दिया तो कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर का पुतला जलाने का प्रयास किया था। दोनों ही गतिविधियां एक ही स्थान पर होने से भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता आमने सामने आ गये और करीब चार घंटे टकराव चला। कांग्रेसियों से पुतला छीनकर पुलिस ने जीप में रख लिया था।
इस बीच भाजपा के धरना स्थल से धुआं उठा और मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ नारेबाजी होने लगी। पता चला कि भाजपायियों ने मुख्यमंत्री का पुतला जला दिया। यह सुनते ही युवक कांग्रेसी पुलिस पर नाराज होने लगे कि मुख्यमंत्री का पुतला दहन कैसे हो गया? कांग्रेस ने पुलिस को शिकायत कर दी थी कि भाजपायियों ने पुलिस द्वारा जब्त पुतला उठा लिया और उसे ही जलाया था। पुलिस ने मामले में निवृतमान पार्षद राकेश जाधव और अभिषेक कनोजिया, भाजपा के नगर महामंत्री अभिषेक तिवारी और बेअंत सिंह के खिलाफ एनएसयूआई के नगर अध्यक्ष मयंक चौरे की शिकायत पर सीएम का पुतला दहन करने और गालियां देने सहित शासकीय कार्य में बाधा डालने का प्रकरण पंजीबद्ध किया था। इसी तरह से विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा की ओर से राजेन्द्र सिंह तोमर और अन्य साथियों के खिलाफ बिना अनुमति पुतला दहन करने और गाली गलौज करने का प्रकरण पंजीबद्ध किया। इनमें चारों को हाईकोर्ट से जमानत करानी पड़ी।
निवृतमान राकेश जाधव ने कहा है कि यह न्याय की जीत है, हम गरीब जनता को उनका हक दिलाने की लड़ाई लड़ रहे थे। कांग्रेस ने इसमें बाधा पहुंचाने का प्रयास किया।
अभिषेक तिवारी ने कहा कि आज दोहरी जीत हुई है। प्रधानमंत्री आवास की लड़ाई लडऩे पर बने प्रकरण में न्यायालय ने राहत दी है तो जिन 621 हितग्राहियों के लिए हम लड़ाई लड़ रहे थे उनमें से 378 हितग्राहियों को शासन ने पात्र घोषित कर दिया है। उन्होंने कहा कि अभी लड़ाई बाकी है, पूर्ण विश्वास है कि जीत होगी। भाजपा पिछड़ा वर्ग के जिलाध्यक्ष जयकिशोर चौधरी ने कहा कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: