जनता कर्फ्यू : जागो प्रशासन जागो, सामाजिक संगठन कर रहे जागरुक

जनता कर्फ्यू : जागो प्रशासन जागो, सामाजिक संगठन कर रहे जागरुक

इटारसी।देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान पर शहर के सामाजिक, व्यापारिक और राजनैतिक संगठन सड़क पर आकर, सोशल मीडिया और अन्य माध्यम से लोगों को जागरुक करने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन, प्रशासन को इसकी कतई चिंता नहीं है। न तो प्रशासन ने कोई मुनादी करायी है और ना ही कोई अपील जारी की। जब से कोरोना वायरस का प्रभाव बढ़ रहा है। ऐसा लगता है, जैसे सबसे अधिक भयभीत इस शहर के अधिकारी ही हैं, जो इसके बचाव के लिए लोगों को जागरुक करने की जगह अपने-अपने घरों और दफ्तरों में दुबक कर बैठ गये हैं। इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और नगर पालिका प्रशासक हरेन्द्र नारायण को तो शहर में देखा ही नहीं गया है। इस शहर को इस गंभीर संकट से बचाना है तो सामाजिक संगठनों, मीडिया को ही आगे आना होगा। एसडीएम को हमने कुछ सूचनाएं दी थीं, लेकिन उन्होंने फीडबैक तक नहीं दिया जबकि केन्द्र सरकार के एक अधिकारी को जो सूचनाएं दी थीं तो उन्होंने पल-पल की खबर हमें करके आश्वस्त किया है।
यह बात आज शाम यहां विश्रामगृह में मीडिया कर्मियों के समक्ष विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने कही। पत्रकार वार्ता में खास बात यह रही कि विधायक के साथ ही समस्त पत्रकारों, भाजपा से जुड़े पदाधिकाारियों ने मास्क लगाये थे। उन्होंने मीडिया से सहयोग मांगा है कि शहर को जागरुक करने के लिए वे प्रयास करें। प्रशासन गंभीर नहीं है, मीडिया ही शहर के लोगों को जनता कर्फ्यू के दौरान बाहर न निकलने के लिए जागरुक करें। विधायक ने भी नागरिकों से आह्वान किया है कि जब कि बहुत जरूरी न हो, वे घर से बाहर न निकलें। अभी हमारे शहर में इस वायरस का प्रवेश नहीं हुआ है, अत: हमें इसकी गंभीरता समझ नहीं आ रही है। एक बार यदि यह प्रवेश कर गया तो बड़ी मुश्किल होगी। अत: हमें जागृत होना है और एक अच्छे नागरिक का परिचय देकर जनता कर्फ्यू का पालन करना होगा।
इस मौके पर मौजूद भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष डॉ. नीरज जैन ने बताया कि आज उनके साथ उनके चार अन्य साथियों ने बाजार में व्यापारियों और नागरिकों से बातचीत करके जनता कर्फ्यू के दौरान घर में रहने का अनुरोध किया था। जितने भी लोगों से मुलाकात हुई, सबसे ने कहा कि इस विपदा की घड़ी में वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस आह्वान का समर्थन करते हैं, वे घरों में ही रहेंगे। इस अवसर पर भाजपा के नगर महामंत्री अभिषेक तिवारी भी मौजूद थे।

हज से आए 14 लोग घर में रहें
विधायक ने कहा कि शहर में हज से आए 14 लोग बेफिक्र घूमकर शहर के लोगों की जान खतरे में डाल रहे हैं। उनको अच्छे नागरिक होने का परिचय देना चाहिए। हमने जब एसडीओपी महेन्द्र सिंह मालवीय को यह सूचना दी तो वे हमसे ही पता पूछने लगे। ऐसे तो हमारे यहां के अधिकारी हैं, जो आफिस में बैठकर प्रशासन चला रहे हैं. एसडीओ राजस्व हरेन्द्रनारायण को जब इनकी जानकारी दी तो उन्होंने क्या किया, इसके लिए कोई फीडबैक तक नहीं दिया। हमारा कहना है कि प्रशासन को बाहर निकलना होगा और जनता से अनुरोध है कि वे घर पर बैठें। एसडीएम को शहर में मुनादी करानी थी, नहीं करायी गयी इससे लगता है कि वे इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।

केन्द्रीय अधिकारी निभायी जिम्मेदारी
विधायक ने कहा कि एक तरफ तो एसडीओ हरेन्द्र नारायण ने सूचना के बावजूद जिम्मेदारी नहीं निभायी जबकि आर्डनेंस फैक्ट्री क्षेत्र में एक संदिग्ध की सूचना के बाद वहां के एक अधिकारी ने लगातार उनसे संपर्क बनाये रखा और जानकारी दी कि ब्लाक मेडिकल आफिसर की टीम ने आकर उक्त संदिग्ध की जांच की है, पूछताछ कर ली है। जबकि उक्त संदिग्ध को इंग्लैंड से भारत आने के बाद दस दिन नयी दिल्ली में भी आईसोलेट किया था। यहां सूचना के बाद उसे यहां भी उसके घर में ही आईसोलेशन में रखा है और लगातार उस पर नजरें रखी जा रही हैं। केन्द्रीय अधिकारी लगातार गंभीरता से लेकर संपर्क बनाकर काम कर रहे हैं, एसडीओ हरेन्द्रनारायण घर से नहीं निकल रहे हैं।

अनेक धार्मिक कार्यक्रम निरस्त
कोरोना वायरस के कारण शहर में आगामी नवरात्रि के दौरान होने वाले कई धार्मिक कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया है। श्री बूढ़ी माता मंदिर समिति के सचिव जगदीश मालवीय ने बताया कि नवरात्रि में होने वाली विशेष आरती के बाद प्रसाद वितरण नहीं होगा। इस दौरान नवरात्रि के सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिये हैं। श्री द्वारिकाधीश मंदिर समिति ने श्रीराम जन्मोत्सव के सभी कार्यक्रम निरस्त कर दिये हैं।

रशियन दंपत्ति की कोरोना जांच
शनिवार को इटारसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म 1 पर विदेशी के होने की सूचना के बाद पुलिस ने सरकारी अस्पताल के डॉक्टर को बुलाकर उनकी जांच कराई। जांच में कोरोना के लक्षण नहीं पाए जाने के बाद उक्त दंपति को हावड़ा मेल से बनारस के लिए रवाना कर दिया। जीआरपी के एएसआई श्रीलाल पड़रिया के अनुसार प्लेटफार्म 1 पर विदेशी नागरिक होने की खबर आई थी कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकता है। इसके बाद शासकीय अस्पताल के चिकित्सक डॉ आशीष पटेल को बुलाकर रशियन दंपत्ति रुस्परोकोपोव दिमित्री और रुहबाखतिआरोवा अमीना की जांच की तो उनमें कोरोनावायरस के लक्षण नहीं पाए गये। दोनों को मुंबई हावड़ा मेल से बनारस के लिए रवाना किया।

मंडी 31 मार्च तक बंद रहेगी
कृषि उपज मंडी भी 31 मार्च तक बंद रहेगी। मप्र शासन द्वारा जारी निर्देशों के तहत सचिव उमेश बसेडिय़ा शर्मा ने बताया है कि जिले की मंडियों में भी 31 मार्च तक नीलामी कार्य बंद रहेगा। व्यापारिक संगठन ने भी इसके लिए मंडी प्रशासन के समक्ष एक आवेदन दिया था कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के कदमों के अंतर्गत नीलामी कार्य स्थगित रखा जाए। अत: 23 से 31 मार्च तक मंडी परिसर में नीलामी कार्य नहीं होगा।

परिवहन भी रहेगा बंद
क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी मनोज तेहनगुरिया ने एक आदेश जारी कर समस्त बस आपरेटर्स से अपील की है कि कल रविवार 22 मार्च को वे किसी भी मार्गों पर चलनेवाली बसों का संचालन ना करें। केरोना वायरस को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल जनता कफ्र्यू का आह्वान किया है। इसके पालन में रविवार को किसी भी मार्ग पर कोई भी बसों का संचालन नहीं किया जायेगा। इसके साथ ही समस्त बस आपरेटर अपने आफिस बंद कर घरों में रहें और अपने कर्मचारियों को भी घर रहने के लिए कहें।


सफाईकर्मियों को बांटे मास्क
नगर पालिका में सीएमओ सीपी राय ने सफाई कर्मचारियों को मास्क, सेनेटाइजर, हैंड ग्लब्स, साबुन का वितरण करके उनसे महामारी से लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा है। शनिवार की शाम को स्वच्छता विभाग के कक्ष में श्री राय ने समस्त सफाई दरोगाओं की बैठक में कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था की लगातार शिकायतें 181 पर जा रही हैं, यह स्थिति ठीक नहीं है। उन्होंने वार्ड मुकद्दमों की जिम्मेदारी तय करके कहा है कि व्यवस्था बिगड़ी तो उनसे जवाब मांगा जाएगा। वे लगातार कार्य की मॉनिटरिंग करें और डायरी मेंटेन करें। काम के बाद वार्ड में जिम्मेदारों से दस्तखत करायें। उन्होंने सफाई कर्मचारियों से कहा है कि वे जब भी मैदान पर काम करने जाएं तो चेहरा मास्क से ढंका हो, सेनेटाइजर से हाथ की सफाई करें और घर पर भी रहें तो बार-बार साबुन से हाथ धोयें।

हाट बाजार बंद रहेंगे
नगर पालिका ने शनिवार को एडवायजरी जारी करके कहा है कि महामारी नोवल करोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य एवं जीवन की सुरक्षा के लिए शहर में लगने वाले हाट/बाजार फुटकर बाजार 31 मार्च तक बंद रहेंगे। सिर्फ अत्यंत आवश्यक सेवाएं देने वाले संस्थान ही खुले रहेंगे। सभी प्रकार की होटलें, दुकानें व खानपान सामग्री के हाथ ठेले तत्काल प्रभाव से बंद रखे जाएं। समस्त नागरिक मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग अवश्य करें और आवश्यक न हो तो तो घर से बाहर न निकलें। नपा ने यह मुनादी भी करायी है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: