Breaking News

बिहार के 15 डकैत जीआरपी के हाथ आए

बिहार के 15 डकैत जीआरपी के हाथ आए

लाखों की वारदात का होगा कुछ दिन में खुलासा
इटारसी। बिहार की बेगूसराय गैंग के एक दर्जन से अधिक सदस्य जीआरपी के हत्थे चढ़ गए हैं। इनके पास से भारी मात्रा में हथियार और अन्य सामग्री बरामद हुई है जो ये लूट और डकैती के वक्त इस्तेमाल करते हैं। जीआरपी के अनुसार ये लोग बेस किचन के पास बैठकर किसी बड़ी वारदात की योजना बना रहे थे। आरोपियों के पास से कट्टा और एयरगन और चाकू बरामद किया है। आरोपियों से जीआरपी पूछताछ कर रही है।
थाना प्रभारी बीएस चौहान के अनुसार बारह बंगला तरफ बेस किचिन के पास करीब कुछ लोगों के बैठे होने की सूचना मिली थी। मौके पर पुलिस बल ने दबिश दी और 15 युवकों को गिरफ्तार किया है। ये सभी आरोपी बिहार के बेगूसराय के हैं। यहां किसी ट्रेन में बड़ी वारदात करने की योजना बना रहे थे। आरोपियों के पास से एक देशी कट्टा एक एयर गन और चाकू बरामद किया है। आरोपियों ने कितनी वारदात को अंजाम दिया है, इसके विषय में पूछताछ की जा रही है। माना जा रहा है कि मुंबई निवासी एक परिवार की कुछ दिन पूर्व हुई करीब 7 लाख रुपए की चोरी में भी इनका हाथ हो सकता है। इसके अलावा इन्होंने 19 एवं 20 नवंबर को रेलवे स्टेशन क्षेत्र इटारसी में कई अपराध करना स्वीकार किया है, इनसे माल बरामद करने की पुलिस कोशिश कर रही है।
एसी में करते थे सफर
ये चोरी गिरोह किसी वीआईपी की तरह ही वातानुकूलित कोच में बाकायदा यात्री बनकर सफर करता था। इनकी रईसी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये अत्यंत महंगे कपड़े, जूते, घड़ी आदि पहने होते हैं ताकि इन पर कोई संदेह नहीं कर सके। सफर के दौरान ये माल उड़ाने के बाद यात्रियों की भीड़ के साथ ही ट्रेन से निकलकर रेलवे स्टेशन से बाहर आ जाते थे। कुछ दिन पूर्व पनवेल एक्सप्रेस से कानपुर से मुंबई जा रहे एक परिवार के दो बैग इटारसी स्टेशन पर चोरी हो गए। बैग में करीब 22 तौला सोना, कपड़े आदि मिलाकर लगभग 7 लाख रुपए का माल था। इटारसी रेलवे स्टेशन पर दो लोग इन बैग को उठाकर बाहर जाते कैमरे में भी कैद हुए थे, वे दोनों भी इसी गैंग के सदस्यों में शामिल बताए जा रहे हैं।
ये हैं बेगूसराय के डकैत
जीआरपी के हाथ गैंग के मुकेश महतो पिता शंभू 36 वर्ष, वीरेन्द्र महतो पिता दुख्खन 42, गौतम सिंह पिता सतीश प्रसाद 36, पुनीत महतो पिता सतीश 40 वर्ष, बिट्टू महतो पिता मल्लीक भगत 28, अभिराम महतो पिता राजेन्द्र 23 वर्ष, दीपक मैथिल पिता विश्वनाथ 24, दीपक पोद्दार पिता दिलीप 40, सुबोध कुमार पिता रमेश भगत 22, राजकुमार राम पिता वासुदेवराम 43, सुमित शाह पिता धीरेन्द्र प्रसाद 34, वर्ष। ये सभी बेगूसराय बिहार के निवासी हैं जबकि सचिन शाह पिता वीरेन्द्र प्रसाद 37 वीरभूमि पश्चिम बंगाल, बबलू कुमार पिता राजकुमार गुप्ता 39 पटना, बिहार, नीरज कुमार पिता रामकृष्ण 24 मुंगेर बिहार और राजीव कुमार पिता सुनील शाह 34 खरगिया बिहार के निवासी हैं। दो बदमाश महेन्द्र शर्मा और श्याम पोद्दार अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए हैं।
इनका कहना है
मुखबिर से सूचना मिली थी कि प्लेटफार्म 6-7 के भुसावल छोर पर टावर बैगन गैरेज की दीवार के पास कोई 16-17 व्यक्ति बैठे हैं और बिहारी बोली में बात करके छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में डकैती डालने की बात कर रहे हैं। तीन पार्टियां तैयार की। पहली पार्टी में स्वयं मैं, दूसरी में एएसआई श्रीलाल पडरिया और तीसरी में एएसआई दर्शन सिंह थे। घेराबंदी करके दबिश देकर घातक हथियारों के साथ इनको पकड़ा है।
बीएस चौहान, थाना प्रभारी जीआरपी

error: Content is protected !!