जीएम ने किया निरीक्षण, अग्निकांड की होगी फॉरेंसिक जांच

इटारसी। मंगलवार को रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म 1 पर हुए अग्निकांड के बाद रेलवे को एक करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ। आगजनी के बाद आज सुबह पश्चिम मध्य रेलवे के जीएम गिरीश पिल्लई ने यहां आकर निरीक्षण किया। वे सुबह 9 बजे पहुंचे। जीएम ने रिफ्रेशमेंट रूम, वेटिंग हॉल सहित अन्य जले हुए स्थानों का निरीक्षण किया। उन्होंने रेलवे स्टेशन के रीडव्हलपमेंट प्लान को कैसे लागू किया जाएगा, इसकी संभावना भी देखी। पूरे एक नंबर प्लेटफार्म का निरीक्षण करने के बाद जीएम ने बाहर टैक्सी स्टैंड के पास आकर भी स्थिति देखी और अधिकारियों से प्लान के विषय में चर्चा कर जानकारी ली है।
जीएम ने बताया कि यह उनका रूटीन निरीक्षण ही था, इस दौरान आगजनी की घटना का निरीक्षण भी कर लिया है। उन्होंने कहा कि इटारसी इंडियन रेलवे का महत्वपूर्ण रेल जंक्शन है और इसका रीडव्हलपमेंट का प्लान भोपाल मंडल ने तैयार करके उनके पास भेजा है, यह बड़ा प्रपोजल है। इसमें पूरे एक नंबर प्लेटफार्म का स्ट्रक्चर बदला जाएगा। इसके अलावा प्लेटफार्म 2-3 की चौड़ाई भी बढ़ाई जाएगी और दो एडिशनल प्लेटफार्म भी बढ़ाए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि पूरी स्टेशन बिल्डिंग को ब्रांड न्यू किया जाएगा। आगजनी की घटना पर जीएम श्री पिल्लई ने कहा कि जांच के पूर्व किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सकता, घटना का वास्तविक कारण जानने के लिए फॉरेंसिक जांच होगी और एक्सपर्ट बुलाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अभी एक नंबर प्लेटफार्म पर आगजनी के बाद जो भी व्यवस्था बिगड़ी हैं, उसे एक माह में रीस्टोर कर देंगे।

आगजनी की जांच के लिए कमेटी बनी
डीआरएम शोभन चौधुरी ने आगजनी की घटना की जांच के लिए छह सदस्यीय दल गठित किया है। जिसमें स्टेशन प्रबंधक एसके जैन, आरपीएफ इंसपेक्टर एसपी सिंह, डीसीआई अंकभूषण दुबे, रेलवे के यातायात निरीक्षक, सीएंडडब्ल्यू के एससई एचएस तिवारी, एसएसई इलेक्टिकल परवेज खान शामिल हैं।

CATEGORIES
TAGS
Share This
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: