Breaking News

दस लाख की शक्कर से भरा ट्रक लूटा

दस लाख की शक्कर से भरा ट्रक लूटा

इटारसी। नरसिंहपुर से शक्कर की खेप लगकर बैतूल लेकर जा रहे उज्जैन निवासी गोविंद दास बैरागी पिता रतनदास 38 के साथ मारपीट और शक्कर का ट्रक लूटने वाले चार में से तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। चौथे आरोपी की तलाश जारी है।
आज दोपहर यहां पुलिस थाने में एसपी अरविंद सक्सेना ने बताया कि शुक्रवार रात करीब 11:30 बजे में खेड़ा पेट्रोल पंप के पास फरियादी गोविंददास पिता रतन दास बैरागी 38 वर्ष, निवासी मंगल कालोनी चिमनगंज आगर रोड उज्जैन ट्रक खड़ा करके सो रहा था। इसी दौरान चार युवक सोनू उर्फ शत्रुघ्न निवासी मनवाड़ा थाना बाबई, कल्लूसिंह निवासी होशंगाबाद, राहुल पिता राधेश्याम रघुवंशी निवासी सीहोर और सुनील सैनी निवासी होशंगाबाद आल्टो कार में सवार होकर आए और उसे उठाकर कार में जबरदस्ती बैठाकर ले गए। आरोपियों में एक युवक ट्रक ले गया था। आरोपियों ने ड्राइवर गोविंद दास को बाबई रोड स्थित तवा पुल के पास एक कमरे में बंद किया उसके साथ बुरी तरह से मारपीट की और गोविंद के बेहोश होने पर छोड़कर भाग गए। अगले दिन सुबह करीब 4 बजे ट्रक ड्राइवर ने कमरे के टीन हटाकर जैसे-तैसे कमरे से बाहर निकला और सुबह करीब 11 बजे इटारसी थाने आकर रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने गोविंद की शिकायत पर चार लोगों के खिलाफ लूट, अपहरण और मारपीट का मामला दर्ज कर लिया था। आज पुलिस ने मामले में आरोपियों को गिरफ्तार किया और एसपी अरविंद सक्सेना ने पत्रकार वार्ता में इसका खुलासा किया। अरविंद सक्सेना ने बताया कि शक्कर और ट्रक की कीमत लगभग 15 लाख रुपए है। पुलिस ने माल सहित ट्रक को भी जब्त कर लिया है।

इन आरोपियों को किया गिरफ्तार
इस मामले में आरोपी कल्लू उर्फ हरिओम गोस्वामी निवासी गुर्जरवाड़ा बाबई, आरोपी राहुल पिता राधेश्याम रघुवंशी निवासी खजूरिया और आरोपी शत्रुघ्न उर्फ सोनू पिता रामविलास कीर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस प्रशासन ने बताया कि इस मामले में एक और आरोपी सुनील सैनी अभी फरार है। एसपी ने प्रकरण में फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पांच-पांच हजार रुपए के ईनाम की घोषणा की थी जिसमें शत्रुघ्न गिरफ्तार हो गया जबकि सुनील सैनी की गिरफ्तारी होना शेष है। एसआई संजय रघुवंशी ने बताया कि ट्रक ड्राइवर गोविंद दास चारों आरोपियों में से सोनू उर्फ शत्रुघ्न को पहले से पहचानता था। सोनू उर्फ शत्रुघ्न रेत खदान पर काम करता था। पहले गोविंद दास होशंगाबाद में रेत लेने भी आता था। इसी वजह से सोनू को उसने पहचान लिया था। बाद में मौके पर पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला रात में सोनू के साथ कार में कल्लू, राहुल और सुनील थे। एसपी के अनुसार शत्रुघ्न ने गोविंद को ट्रक का टायर दिलाए थे और उससे उसे करीब 12 हजार रुपए लेने थे, जो देने में देरी होने पर विवाद हुआ और शत्रुघ्न ने ट्रक लूट और मारपीट की योजना बनाकर अपने साथियों को इसमें शामिल किया। ट्रक के लूट मामले में खुलासा करने वाली टीम में टीआई विक्रम रजक, उपनिरीक्षक आरके राय, सहायक उपनिरीक्षक संजय रघुवंशी, आरक्षक हेमंत तिवारी, भागवेन्द्र, भूपेश मिश्रा, हरीश, जयप्रकाश पाठे, दम्मू आदि की प्रमुख भूमिका रही है।

error: Content is protected !!