ऐसा टूर्नामेंट, जिसे देखने दर्शकों को न आने का आग्रह

ऐसा टूर्नामेंट, जिसे देखने दर्शकों को न आने का आग्रह

रविवार से 6-ए साइड हॉकी टूर्नामेंट प्रारंभ होंगे
इटारसी। गांधी मैदान पर रविवार 28 जून से मानसून ट्राफी 6-ए साइड हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा। इसमें एक टीम में केवल छह खिलाड़ी रहेंगे। एक बार में केवल 12 खिलाड़ी मैदान पर होंगे। इसमें नकद पुरस्कार एवं ट्राफी ईनाम में दी जाएगी। यह टूर्नामेंट पूरी तरह से दर्शकविहीन रहेगा। किसी भी दर्शक को खेल देखने गांधी मैदान में नहीं आने दिया जाएगा। सचिव कन्हैया गुरयानी ने बताया कि आयोजकों ने दर्शकों से अनुरोध किया है कि वे मैदान पर बिलकुल नहीं आएं।
इस रविवार से गांधी मैदान पर शहर के हॉकी खिलाड़ी अपने खेल कौशल के साथ उतरेंगे। हॉकी होशंगाबाद ने खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करने के लिए एक नयी योजना के तहत शहर के हॉकी खिलाडिय़ों की छह टीमें बनाकर टूर्नामेंट कराने का निर्णय लिया है। यह टूर्नामेंट 6-ए साइड होगा। यानी एक टीम में केवल छह खिलाड़ी रहेंगे। इस तरह मैदान पर एक बार में केवल 12 खिलाड़ी ही होंगे। खास बात यह है कि इसमें हॉकी प्रेमी दर्शकों का प्रवेश पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। आयोजकों ने हॉकी प्रेमियों से आग्रह किया है कि वे कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए खिलाडिय़ों के उत्साहवर्धन के लिए कृपया मैदान पर बिलकुल नहीं आएं, जब संकटकाल खत्म होगा और बड़ी प्रतियोगिताएं होंगी, तब मैदान पर शासन की अनुमति से दर्शकों को प्रवेश मिलेगा।

मैदान पर लौटेगी रौनक
लॉक डाउन के साथ ही खेल प्रतियोगिताओं, अभ्यास या कैंप पर प्रतिबंध लग गया था। अब धीरे-धीरे मैदान पर पुन: रौनक लौटने लगी है। खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करने के लिए अब हॉकी होशंगाबाद ने एक नया और अनूठा तरीका अपनाया है। हॉकी होशंगाबाद अब माह के किसी एक रविवार को केवल खिलाडिय़ों के लिए एक दिन का टूर्नामेंट करेगा जिसमें छह टीमें एक दूसरे के खिलाफ लीग मुकाबले खेलेगी और शाम को ही फाइनल भी हो जाएगा। रविवार को दोपहर 1 बजे से मुकाबले प्रारंभ होंगे और शाम 6 बजे तक पांच टीमें लीग पद्धति से एकदूसरे के खिलाफ खेलेंगी। इसमें पंद्रह वर्ष से कम आयु के खिलाडिय़ों को किसी तरह का प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

20-20 मिनट का होगा खेल
6-ए साइड मानसून ट्रॉफी का प्रत्येक मैच केवल 20 मिनट का होगा। इस तरह से दोपहर 1 से शाम 6 बजे तक 6 टीमें एकदूसरे के खिलाफ मैच खेलेगी। सेमीफाइनल में चार टीमें और फाइनल में दो टीमें जाएंगी और शाम को फाइनल के विजेता को नगद पुरस्कार के साथ ही एक ट्रॉफी दी जाएगी। नगद पुरस्कार कितना होगा, यह अभी घोषित नहीं किया जा रहा है। मानसून ट्राफी खेलने वाली सभी पांच टीमें इटारसी के ही हॉकी खिलाडिय़ों को मिलाकर बनायी जा रही हैं। इन टीमों में जूनियर और सीनियर सभी खिलाड़ी रहेंगे, बस खिलाड़ी की आयु पंद्रह वर्ष से ऊपर होना चाहिए। छोटे बच्चों को फिलहाल शासन के आदेश के अंतर्गत मैदान में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।

पुराने नामों को ताजा करेंगे
शहर की हॉकी के स्वर्णिमकाल को ध्यान में रखते हुए आयोजकों ने इन छह टीमों का नाम भी पुरानी हॉकी टीमों के नाम पर ही रखा है। यानी गांधी मैदान पर एक बार फिर अमर ज्योति क्लब, सीएंडडब्ल्यू, भारतीय क्लब, फे्रन्ड्स क्लब, अंटाटोली क्लब और चियर्स क्लब के नाम से टीमें खेलने के लिए उतरेंगी। एक वक्त था, जब अमर ज्योति क्लब, भारतीय क्लब और सीएंडडब्ल्यू के अलावा चियर्स और अंटाटोली क्लब के नाम से भी टीमें खेला करती थीं। वह हॉकी का स्वर्णिम काल था, जब गांधी मैदान पर दर्शकों की संख्या हजारों में होती थी और मैदान में पत्थर की गैलरी में पैर रखने के लिए जगह नहीं होती थी। आज भी टूर्नामेंट में जब फाइनल होते हैं तो यही हाल होता है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: