Breaking News

जीआरपी ने नहीं लिखी एफआईआर, आवेदन लिया  

जीआरपी ने नहीं लिखी एफआईआर, आवेदन लिया  

इटारसी। रेल जंक्शन इटारसी पर अपराध थमने का नाम ही नहीं ले रहे है। रोजाना उठाई गिरे जंक्शन और इसके आस-पास आउटर पर यात्रियों का माल उड़ाकर उन्हे हजारों की चपत लगाकर फरार हो रहे है।
मंगलवार को इन उठाईगिरों ने दो ट्रेनों में अपना कमाल दिखाया। पहली घटना अमरकंटक एक्सप्रेस की बताई है जहां अनूपपुर निवासी महिला यात्री फराह नाज पति सरफराज खान ट्रेन के कोच क्रमांक एस-13 बर्थ नंबर 25 पर अपने परिवार के साथ भोपाल की यात्रा कर रही थी। इटारसी आने के पूर्व अज्ञात ने सीट पर रखा लेडीस पर्स चोरी कर लिया। फरियादी के अनुसार लेडीस पर्स में एक सोनी की चेन, एक मोबाइल, नगदी एक हजार रुपए तथा अन्य सामान रखा हुआ था। चोरी गए कुल माल की कीमत पचास हजार रूपए बताई गई है। महिला यात्री ने लेडीस पर्स चोरी होने की सूचना हेल्पलाइन 182 पर पुलिस को दी है। मामले में जीआरपी ने क्यूआईटी को भेजा है। दूसरा मामला ट्रेन क्रमांक 12646 मिलेनियम स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस के जनरल कोच का है जहां इटारसी जयप्रकाश नगर वर्मा कॉलोनी पुरानी इटारसी निवासी मुकेश पिता श्याम लाल पुरविया सहारा एजेंट झांसी से इटारसी की यात्रा कर रहा था। मुकेश ने अपना बैग ट्रेन में खिड़की के पास ही टांग रखा था। स्टेशन आने के पूर्व वह अपने बैग शूज पहन रहा था उसी दौरान इटारसी आउटर हनुमान धाम के पूर्व अज्ञात ने उसका बैग उठाकर फरार हो गया। यात्री मुकेश के अनुसार बैग में इस्तेमाली कपड़ो के साथ नगदी पचास हजार रुपए रखे हुए थे जो अपनी कंपनी में एफडी करने वास्ते अपने चाचा गुरू दयाल पुरविया से लेकर इटारसी आ रहा था। यात्री मुकेश ने जीआरपी को अपने साथ हुई वारदात की सूचना दी। मामले में जीआरपी ने उससे आवेदन प्राप्त कर जांच प्रारंभ की है। घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद फरियादी मुकेश एफआईआर दर्ज कराने के लिए जीआरपी के चक्कर लगा रहा है, परन्तु अभी तक दोनों ही मामलों में जीआरपी ने एफआईआर दर्ज नहीं की है।

error: Content is protected !!