जब हम बैठे हैं घरों में, वो दिखा रहे हैं बहादुरी

जब हम बैठे हैं घरों में, वो दिखा रहे हैं बहादुरी

इटारसी। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने लॉक डाउन के बीच सफाई कर्मचारी और अन्य कर्मचारी तथा चालक लगातार अपनी जिम्मेदारियां निभा रहे हैं। असल में ये भी सच्चे कोरोना योद्धाओं में शामिल हैं। आज जहां हम सब अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए घरों में कैद होकर रह गए हैं वहीं यह सफाई कर्मचारी रोज अपनी जिम्मेदारी निभाने सुबह घर से निकल पड़ते हैं और पूरे वार्ड को साफ सुथरा बनाते हैं। ये सफाई कर्मचारी बहादुर और सम्मान के हकदार हैं।
इनको अपने से ज्यादा समाज के हितों की चिंता है जो जान जोखिम में डाल कर लगातार काम कर रहे हैं। ये खुदा के बंदों की खिदमत ही सच्ची वंदगी होती है, मानकर अपना फर्ज अदा कर रहे हैं। यदि हम कुछ ऐसे ही कोरोना योद्धाओं पर नजर डालेंगे तो कुछ ऐसे नाम सामने आते हैं, जिनका जिक्र भी जरूरी हो जाता है।
विक्रम पिता नानक ऊटवाल पर सेनेटाइजर की जिम्मेदारी है। पंद्रह लीटर का पंप पीठ पर लादकर जगह-जगह सेनेटाइजिंग करते हैं। बहादुरी इतनी कि हर पॉजिटिव केसेस में संबंधित के घर के अलावा संपूर्ण क्षेत्र में सेनेटाइजर का छिड़काव करते रहे हैं। इसी तरह से पन्नालाल पिता श्रीपाल खरारे भी पंद्रह लीटर का पंप पीठ पर लिये सरकारी दफ्तरों, बैंक शाखा, एटीएम, कोर्ट, तहसील कार्यालय, एसडीएम कार्यालय आदि में सेनेटाइजिंग कर रहे हैं। सतीश महोरिया, सुरेश मनोहर कीटनाशक के टैंकर की जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं। यह कंटेन्मेंट क्षेत्र के अलावा सिविल अस्पताल में सुबह और शाम दोनों वक्त सेनेटाइजिंग कर रहे हैं। कोविड केयर सेंटर और क्वारेंटाइन सेंटर आदिम जाति कन्या शिक्षा परिसर में साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन और शहर के वार्डों में सेनेटाइजेशन की जिम्मेदारी मनीष पिता प्रकाश डागर, सत्येन्द्र विशंभर और एन कुमार पिता शंकरलाल चुटीले के कंधों पर है, जिसे वे बखूबी निभा रहे हैं। टैंकर के ड्रायवर राजा पिता ओमप्रकाश और नौशाद अली भी इस कार्य में बराबर सहयोग कर रहे हैं। एक और योद्धा है नरेन्द्र चौहान, जो कोरोना के मरीजों के घर खुशियां लेकर पहुंचते हैं। जब मरीज ठीक हो जाता है, वे उसे भोपाल से लाकर उनके घर तक छोडऩे की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इसके अलावा क्वारेंटाइन किये लोगों को पवारखेड़ा ले जाना और अवधि पूर्ण होने पर उनको वापस उनके घर छोडऩे का काम बस चालक नरेन्द्र चौहान के जिम्मे हैं, जिसे वे पूरी निष्ठा से निभा रहे हैं।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: