दस्तक अभियान की गतिविधियों का मैदानी स्तर पर कलेक्टर श्री सिंह ने लिया जायजा

दस्तक अभियान की गतिविधियों का मैदानी स्तर पर कलेक्टर श्री सिंह ने लिया जायजा

  • स्वयं पर आजमाकर देखी स्वास्थ्य के अमले द्वारा की जाने वाली जांचो की गुणवत्ता

नर्मदापुरम। जिले में दस्तक अभियान के तहत स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं के संयुक्त दल द्वारा 5 वर्ष तक के बच्चों के घर-घर जाकर उनकी चिकित्सीय जांच एवं आवश्यक उपचार, प्रबंधन सुनिश्चत करने की गतिविधियां संचालित की जा रही हैं।

शनिवार को नर्मदापरम कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह (Narmadaparam Collector Mr. Neeraj Kumar Singh) ने ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर मैदानी स्तर पर दस्तक अभियान के क्रियान्वयन की स्थिति देखी।

सबसे पहले कलेक्टर श्री सिंह सोहागपुर के ग्राम सेमरी पहुंचे। उन्होंने यहां आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक 5 का निरीक्षण कर 0 से 5 वर्ष तक के कुपोषित, जन्मजात विकृति सहित अन्य रोगों से ग्रसित बच्चों के स्क्रीनिंग की जानकारी ली।

निरीक्षण के दौरान ग्राम के कुल बच्चे एवं उनकी स्क्रीनिंग की जानकारी सही तरह से संधारित न करने तथा स्क्रीनिंग में भी लापरवाही पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने संबंधित एएनएम को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। साथ ही फील्ड पर दस्तक अभियान की मॉनिटरिंग में लापरवाही पर बीएमओ सोहागपुर संदीप केरकेट्टा को भी नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

इसके बाद कलेक्टर श्री सिंह ने ग्राम जमुनिया के आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 1 का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां सीएचओ और एएनएम से बच्चों की स्क्रीनिंग एवं गर्भवती महिलाओं के एएनसी चेकअप की जानकारी ली। उन्होंने स्वयं की बीपी की जांच कराकर यह देखा कि बीपी की जांच सही ढंग से की जाती है या नहीं।

उल्लेखनीय है कि गत दिवस कलेक्टर ने मातृ मृत्यु के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान यह पाया था कि गर्भवती महिलाओं के प्रसव के दौरान हाई बीपी के कारण जोखिम की स्थिति निर्मित होती है। जिसके चलते उन्होंने एएनएम के माध्यम से गर्भवती महिलाओं की हाईबीपी, हीमोग्लोबिन सहित अन्य आवश्यक जांचें समय पर और गुणवत्तापूर्ण करने के निर्देश दिए थे।

इसके बाद कलेक्टर ने ग्राम चीचली के आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण कर अभियान की गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा बीएमओ सोहागपुर को सख्त निर्देश दिए कि दस्तक अभियान में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

अभियान का प्रभावी ढंग से क्रियान्वन किया जाए। 5 वर्ष तक के सभी ऐसे बच्चे जो गंभीर कुपोषित जन्मजात विकृति सहित अन्य रोगों से ग्रसित है उनकी जांच कर उनका बेहतर उपचार सुनिश्चित कराएं। उन्होंने अभियान में मंगलवार तक प्रगति लाने के निर्देश सीएमएचओ को दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने ग्राम जमुनिया एवं चीचली के मतदान केंद्रों का भी निरीक्षण कर विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण की गतिविधियों की जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश देहलवार,एसडीएम सोहागपुर श्री ब्रजेश रावत, नायब तहसीलदार अंजु लोधी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

CATEGORIES
Share This
error: Content is protected !!