BREAK NEWS

एनपीएस के ड्राफ्ट पर लाल झंडा यूनियन के नेता ने किये थे हस्ताक्षर

एनपीएस के ड्राफ्ट पर लाल झंडा यूनियन के नेता ने किये थे हस्ताक्षर

– पश्चिम मध्य रेलवे मजदूर संघ के मंडल अध्यक्ष ने पत्रकार वार्ता में लगाये आरोप

इटारसी। पश्चिम मध्य रेलवे मजदूर संघ के मंडल अध्यक्ष राजेश पांडे (Rajesh Pandey, Divisional President of West Central Railway Labor Union) ने लाल झंडा यूनियन पर बड़ा आरोप लगाया है।

यहां रेलवे स्टेशन के सामने संघ कार्यालय में आज शाम हुई एक पत्रकार वार्ता में श्री पांडे ने कहा कि न्यू पेंशन स्कीम की योजना पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई (Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee) के कार्यकाल में बनी थी। जो ट्रस्ट बना था उनमें ऑल इंडिया रेल्वे मेन्स फेडरेशन यानी लाल झंडा यूनियन के एक बड़े पदाधिकारी उमरावमल पुरोहित ट्रस्टी थे।

नई पेंशन स्कीम के ड्राफ्ट पर उन्होंने हस्ताक्षर करके वर्ष 2004 के बाद भर्ती हुए लाखों रेल कर्मचारियों के भविष्य से खिलवाड़ किया था। अब लाल झंडा यूनियन न्यू पेंशन स्कीम के विरोध का ढोंग करके कर्मचारियों के साथ छलावा कर रही है। इस अवसर पर संघ के मंडल कोषाध्यक्ष अशोक दुबे, डीजल शेड शाखा के पदाधिकारी महाकलेश्वर कश्यप, भगवती वर्मा, सरताज हुसैन, अर्जुन उंटवार सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

श्री पांडे ने कहा कि एनएफआईआर ने एनपीएस का ड्राफ्ट बन रहा था तब भी विरोध किया था और अब भी विरोध किया जा रहा है, आगे जब तक नई पेंशन स्कीम खत्म नहीं हो जाती तब तक एनएफआईआर इसके विरोध में संघर्ष करता रहेगा।

श्री पांडे ने कहा कि नई पेंशन स्कीम वर्ष 2004 के बाद भर्ती हुए रेल कर्मचारियों के लिए किसी भी प्रकार से फायदेमंद नहीं है। एनएफआईआर लगातार इसके विरोध में आवाज उठाता रहा है और उसी का परिणाम है कि कुछ जगहों पर हमें सफलता भी मिली है। जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है वहां पर पुरानी पेंशन स्कीम लागू हो चुकी है। एनएफआईआर का उद्देश्य है कि अखिल भारतीय स्तर पर पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाए।

जेडटीसी बनाना एजेंडे में

इटारसी के सिमुलेटर सेंटर को जोनल ट्रेनिंग सेंटर बनाना जबलपुर जोन में जोनल ट्रेनिंग सेंटर के लिए इटारसी से भेजे गए प्रस्तावों और संघ द्वारा की गई कार्यवाही से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि जोनल ट्रेनिंग सेंटर के लिए जो पैरामीटर फिक्स हैं, उनके लिहाज से इटारसी का सिमुलेटर सेंटर फिट नहीं बैठ पा रहा है। यहां पर रुकने की व्यवस्था स्टाफ की स्वीकृति सहित कई अन्य कमियां हैं, जिन्हें दूर करने की आवश्यकता है, इसके लिए एनएफआईआर लगातार प्रयास भी कर रहा है।

एनएफआईआर ने सिमुलेटर सेंटर को अपग्रेड सेंटर करने के लिए उसे अपने पीए एम एजेंडे में भी शामिल किया हुआ है। हम लगातार इस विषय पर ध्यान दे रहे हैं। हमारा प्रयास होगा कि इटारसी के सिमुलेटर सेंटर को अपग्रेड सेंटर में बदलवा सकंे ताकि उसे जोनल ट्रेनिंग सेंटर का दर्जा दिलाया जा सके।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!