Breaking News

युवाओं को समाज से जोडऩे के लिए संकल्पित, जय हो ग्रुप

युवाओं को समाज से जोडऩे के लिए संकल्पित, जय हो ग्रुप

युवाओं को समाज से जोडऩे के लिए संकल्पित, जय हो ग्रुप

आज से 2 साल पहले, यानी 24 नवंबर 2014 को शहर के युवाओं के लिए एक प्लेटफार्म का आगाज़ हुआ. जो शुद्ध रूप से युवाओं का संगठन है। इस संगठन की शुरुआत एक ऐसी इच्छा शक्ति ने की, जो पिछले कई सालों से युवाओं के संपर्क में थी, और हर बार इन युवाओं को सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करती थी। ये इच्छा शक्ति थी गुफरान अंसारी की और जिस प्लेटफार्म पर आज इन्होंने युवाओं को जोड़ा है, वो है जय हो ग्रुप। गुफरान अंसारी आज इस ग्रुप के अध्यक्ष की महती भूमिका निभा रहे हैं।jai ho (1)
जय हो ग्रुप में पिछले दो वर्षों में सदस्य युवकों ने खासा उत्साह दिखाया है और आज इस ग्रप में कार्यरत सदस्य संख्या लगभग 200 है, जिसमें 100 स्थायी सदस्य हैं। ग्रुप में सदस्यता हेतु आयु सीमा 16 से 35 वर्ष है। 24 अप्रैल 2016 से ग्रप में युवकों के साथ युवतियों ने भी अपना योगदान देना प्रारंभ किया इन युवतियों की संख्या 35 हैं। और इस तरह जय हो ग्रुप युवक और युवतियों यानी युवाओं का ग्रुप है। जहां जय हो ग्रुप युवकों को सामाजिक कार्यों में आगे बढ़ता है वहीं युवतियों को एक ऐसा प्लेटफॉर्म देना है जिसके माध्यम से वो अपने क्षेत्र में स्वतंत्र होकर समाज के विकास में अपनी भूमिका निभाकर बराबर से काम कर सके और अपनी अलग पहचान बना सके। ग्रुप का उद्देश्य इस वर्ष 2017 में जि़ले भर में अलग अलग इकाई के रूप में ग्रुप को स्थापित करने का लक्ष्य संकल्पित है।

संगठन के कार्य

जय हो ग्रुप अपनी सकारात्मक कार्यशैली से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में सफल रूप से अपनी भूमिका निभा रहा है…!
jai ho (4)
26 जनवरी गणतंत्र दिवस की संध्या पर वार्षिक कार्यक्रम इटारसी की शान, अदभुत प्रतिभा सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, जिसके माध्यम से इटारसी शहर की 12 अदभुत प्रतिभाओं को चयनित कर उनका भव्य रूप सम्मान कर उनके कार्यो को नमन किया जाता है।jai ho (3)

ग्रुप के माध्यम से रक्षाबंधन सुरक्षा बंधन कार्यक्रम का आयोजन कर 500 महिलाओं का जीवन सुरक्षा बीमा कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

ग्रुप ने स्वच्छ भारत अभियान के माध्यम से बड़ी संख्या में युवाओं को एकत्र कर नगर में स्वच्छता को लेकर हमारी भूमिका के लिए जागरूकता का संदेश दिया गया।

गांधी जयंती पर वृद्धाश्रम में बुजुर्गों के बीच कार्यक्रम करना और इसी दिन संध्या पर गांधी प्रतिमा के प्रांगण की सफाई कर दीप और फूल मालाओं से सजाकर गांधी जयंती मनाना।

ग्रुप के सदस्यों द्वारा ज़रूरतमंदों को ब्लड डोनेट करना, गर्म कपड़े प्रदान करना, गर्मियों में जल ग्रहण प्याऊ लगाकर, फल फ्रूट वितरण कार्यक्रम समय समय पर किये जाते हैं।

error: Content is protected !!