गेहूं के खेत में आग, तीन एकड़ की फसल जली

गेहूं के खेत में आग, तीन एकड़ की फसल जली

इटारसी। नयायार्ड के पास गेहूं की खड़ी फसल में आग से करीब तीन एकड़ का खेत जलकर राख हो गया। खेत में खड़ी फसल पूरी तरह से पकी नहीं थी और खेत अभी ठंडा था, अन्यथा बड़ी क्षति हो सकती थी। आग की सूचना मिलते ही लगभग पांच सौ लोगों ने पहुंचकर आग पर काबू पाया। इस दौरान पुलिस, राजस्व, पंचायत विभाग का अमला भी मौके पर पहुंचा और नगर पालिका की दमकल भी पहुंच गयी थी।


आमजन की जागरुकता ने खेत में लगी आग को आग को आगे नहीं बढऩे दिया, क्योंकि जिस वक्त गेहूं के खेत में आग लगी थी, तेज हवाएं चल रहीं थीं। आग की सूचना मिलते ही लोगों ने घरों से निकलकर खेत की तरफ दौड़ लगायी और आग बुझाने में जुट गये। आग पर काबू पाते-पाते लगभग 3 एकड़ खेत जल ही गया। किसान शुभम पटेल के खेत में अभी फसल ठंडी थी, अगर ऐसा नहीं होता तो आग साईंनगर नयायार्ड, भट्टी, तक पहुंच जाती और हजारों एकड़ की फसल की नुकसानी होती। जिला पंचायत सदस्य विजय बाबू चौधरी ने कहा कि सभी किसानों की जागरूकता और ईश्वर की कृपा से बड़ी घटना को रोका जा सका। लेकिन बिजली विभाग से बार-बार निवेदन कर रहे हैं कि बिजली के तारों का मेंटेनेंस कर लें और दिन में खेत वाली लाइट बंद कर दें लेकिन विद्युत विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। उन्होंने विभाग के अधिकारियों से निवेदन किया है कि जहां-जहां तार नीचे झूल रहे हैं उनमें कम से कम बांस की पिंची बांध दें ताकि तार आपस में ना टकराये और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।

बारिश बढ़ा रही किसानों की चिंता
खेतों में फसल पककर तैयार खड़ी है, और कुछ खेतों में गेहूं की कटाई भी प्रारंभ हो गयी है। ऐसे में आसमान में छाए बादल और हो रही बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल, खेत में खड़ा गेहूं पककर सूख गया है और बारिश से गेहूं की फसल आड़ी होकर उसमें नमी होने की आशंका है। पानी लगने से गेहूं काला भी पड़ सकता है और दाने की चमक चली जाएगी जिससे किसान को गेहूं बेचने में परेशानी आने वाली है, क्योंकि यह एफएक्यू के मापदंड से बाहर निकल जाएगा।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
%d bloggers like this: