Breaking News

माह अंत तक पूर्ण हो जाएगी जलावर्धन की टेस्टिंग

माह अंत तक पूर्ण हो जाएगी जलावर्धन की टेस्टिंग

सीएमओ ने की विकास कार्यों की समीक्षा, काम में तेजी लाने के निर्देश
इटारसी।इस माह के अंत तक जल आवर्धन योजना की टेस्टिंग का कार्य हर हाल में पूर्ण हो जाएगा। मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने योजना के कार्यों का स्थल निरीक्षण के बाद आज शाम यहां समीक्षा बैठक में योजना से जुड़े इंजीनियर को हर हाल में काम इस माह के अंत तक पूर्ण कराने को निर्देश दिए।

अवास के लिए पुराने भवन तोड़े
बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए चिह्नित भूमि रिक्त कराने के निर्देश दिए। सीएमओ के निर्देश के तत्काल बाद सब्जी मंडी के पास स्थित भूमि पर बने पुराने भवनों को तोड़ दिया गया है। पुराना तहसील कार्यालय भवन और उद्योग विभाग कार्यालय भवन को तोडऩे के लिए दो दिन का वक्त दिया है। दो दिन बाद यदि ये कार्यालय खाली नहीं किए तो नपा इन भवनों को तोड़ देगी। आज शाम इस स्थान को साफ करा लिया है। इस पर जल्द ही प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान निर्माण के लिए कार्य प्रारंभ किया जाएगा। यहां 36 एलआईजी और 144 ईडब्ल्यूएस भवनों का निर्माण होना है।
सीएमओ ने आज की बैठक में बायोमेट्रिक उपस्थिति अनिवार्य करने के निर्देश दिए। इसकी तैयारी शुरु हो गई है। सीएमओ ने मजदूर कर्मकार मंडल का सर्वे करने के निर्देश दिए। नपा कर्मचारी चिह्नित क्षेत्रों में हर रोज सुबह 8 से पूर्व और शाम 6 बजे के बाद जाकर सर्वे करेंगे।

सहायक पायलेट करेंगे जागरुक
स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के अंतर्गत अब तक कचरा वाहनों में पायलेट के साइड में बैठने वाले सहायक पायलेट की जिम्मेदारी तय की गई है। काफी शिकायतें मिल रहीं थी कि ये केवल वाहन में बैठे रहते हैं। इनको कहा गया है कि वे वाहन से नीचे उतरकर घर-घर जाकर लोगों को गीला और सूखा कचरा के लिए जागरुक करेंगे। इनको फीडबैक रजिस्टर दिए हैं, जिसमें कम से कम पांच और अधिकतम दस लोगों की एंट्री कराएंगे। लोगों को बताएंगे कि वे फीडबैक के लिए 1969 पर मिस्ड काल करें और फोन आने पर फीड बैक दें।

आईएचएसडीपी में शिफ्ट करेंगे
आईएचएसडीपी योजना के अंतर्गत न्यास कालोनी के पास बने मकानों में हितग्राहियों को अब सख्ती से शिफ्ट किया जाएगा। दरअसल, यहां जिन लोगों को मकान आवंटित किए गए हैं, उन्होंने मकान भी ले लिए और जहां पहले रहते थे, वे झुग्गियां भी खाली नहीं की हैं। उनको सख्ती से झुग्गियों से उनके आवंटित आवास में भेजा जाएगा। बता दें कि कई लोगों ने योजना के अंतर्गत मकान तो ले लिए हैं, लेकिन कई लोग उनमें शिफ्ट नहीं हुए हैं। जहां ये झुग्गियां बनी हैं, वहां प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान बनना प्रस्तावित हैं।

error: Content is protected !!