मौके पर जाकर स्वीकृति योग्य वनाधिकार दावों की जांच करें

मौके पर जाकर स्वीकृति योग्य वनाधिकार दावों की जांच करें

वन अधिकार अधिनियम 2006 व वनमित्र पोर्टल (Van Mitra Portal) के प्रशिक्षण में कलेक्टर के निर्देश
होशंगाबाद। कलेक्टर धनंजय सिंह (Collector Hoshangabad Dhananjay Singh) ने अमान्य/निरस्त दावों का एक सप्ताह में पुन: परीक्षण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि परीक्षण हेतु नियुक्त नोडल/सहायक नोडल अधिकारी अभियान के रूप में सौंपे क्लस्टर (cluster) क्षेत्रों में घर-घर जाकर हितग्राहियों के दावों की जांच करें। वे कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में वन अधिकारी अधिनियम 2006 व वनमित्र पोर्टल के संबंध में आयोजित प्रशिक्षण में शामिल प्रशिक्षणार्थियों, अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर भारती मैरावी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास चंद्रकांता सिंह, ई-गर्वनेंस प्रबंधक संदीप चौरसिया व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

सात दिन युद्ध स्तर पर कार्य करें
कलेक्टर धनंजय सिंह (Collector Dhananjay Singh) ने निर्देशित किया कि सभी पात्र व्यक्तियों को वनाधिकार पट्टा मिले उद्देश्य की पूर्ति हेतु अधिकारी अगले 7 दिन युद्धस्तर पर कार्य करें। अमान्य/निरस्त वनाधिकार दावों के सत्यापन के कार्य प्राथमिकता से करें। लापरवाही की दशा में संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश कलेक्टर श्री सिंह ने दिये। उन्होंने कहा कि नोडल/सहायक नोडल अधिकारी अपने क्लस्टर/क्षेत्र में रहकर ही सौंपे कार्यों का बेहतर निष्पादन करें।

हितग्राहियों को सुविधाएं उपलब्ध कराएं
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि नोडल/सहायक नोडल अधिकारी सौंपे गये क्लस्टर/क्षेत्र में घर-घर जाकर हितग्राहियों को वनाधिकार अधिनियम 2006 के प्रावधानो के संबंध में जानकारी दे, उन्हें दावे स्वीकृति के साक्ष्य/प्रक्रिया हेतु सुविधाएं उपलब्ध कराएं। जिससे सभी पात्र हितग्राहियों का वन अधिकार का पट्टा मिल सके।

क्लस्टर (cluster)अनुसार होंगे शिविर
कलेक्टर के निर्देशानुसार अमान्य/निरस्त वन अधिकार दावों के पुन: परीक्षण हेतु क्लस्टरवार शिविर किये जाएंगे जिसके लिए नोडल/सहायक नोडल अधिकारी की ड्यूटी लगाई है। जो क्लस्टर में रहकर वन अधिकार दावों की जांच करेंगे साथ ही हितग्राहियों को सुविधा उपलब्ध करायेंगे। आयोजित प्रशिक्षण में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सभी नियुक्त नोडल/सहायक नोडल अधिकारी क्लस्टरवार वनाधिकार प्रकरणों की जानकारी प्राथमिकता से रखे साथ ही वन मित्र पोर्टल पर फार्म व्यवस्थित भरा जाना सुनिश्चित कराएं।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: