बसों में जांच : आपात खिड़की जाम, आगे लगी थीं सीटें, आपरेटर को लगायी लताड़

बसों में जांच : आपात खिड़की जाम, आगे लगी थीं सीटें, आपरेटर को लगायी लताड़

इटारसी। गुना (Guna) में हुए बस में आगजनी की घटना के बाद से प्रशासन अलर्ट मोड (Alert Mode) पर है और परिवहन अधिकारी और पुलिस का दल संयुक्त कार्रवाई करके बसों की जांच कर रहे हैं। आज नर्मदापुरम-बैतूल मार्ग (Narmadapuram-Betul Road) पर टीम ने मैराथन कार्रवाई की और बसों की फिटनेस (Fitness) जांची। इस दौरान अर्थदंड भी लगाया और चेतावनी के साथ सुधार की मोहलत भी दी। साथ ही लापरवाही पर बस आपरेटर्स (Bus Operators) को बहस करने पर परिवहन अधिकारी ने लताड़ भी लगायी।

इटारसी (Itarsi) में सबसे पहले शहर के प्रवेश द्वार धौंखेड़ा तिराहे पर डीएसपी ट्रैफिक (DSP Traffic) और आरटीओ (RTO) की टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर इस रोड पर चलने वाली बसों की सघन जांच की। बसों में जो कमी मिली उनको दुरुस्त करने के निर्देश के साथ जुर्माना भी लगाया। बसों में अग्निशमन यंत्र, आपात खिड़की जैसी जरूरी चीजें जांची। कुछ बसों में अग्निशमन यंत्र नहीं मिले, कुछ बसों में आपात खिड़की के साथ ही सीटें लगी थीं, आपात खिड़की भी जाम थीं, जो जोर से धक्का देने के बाद भी नहीं खुल रही थी। ऐसी ही एनपी ट्रांसपोर्ट बस सर्विस के संचालक ने आरटीओ से बहस करने की कोशिश की तो आरटीओ निशा चौहान (Nisha Chauhan) ने उसकी क्लास लगाकर उसे जमकर लताड़ लगायी।

टीम ने धौंखेड़ा तिराहे के बाद ओवरब्रिज तिराहे का रुख किया और यहां भी बसों की जांच की। टीम इटारसी बस स्टैंड (Itarsi Bus Stand) पहुंची और बसों के भीतर जाकर गहन जांच की गई। इस दौरान ऐसी कोई बस नहीं मिली जो पूर्णत: नियम से चल रही हो। सभी में कुछ न कुछ कमी मिली जो उनको दुरुस्त करने के निर्देश भी दिये। सिटी पुलिस की टीम ने भी टीआई गौरव बुंदेला (TI Gaurav Bundela) के नेतृत्व में बसों की जांच की और यातायात नियमों का पालन हो रहा है या नहीं, यह देखा। बसों की जांच का यह सिलसिला जारी है जो शाम तक चलेगा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!