पथरोटा के 82.3 प्रतिशत लोग शिक्षित, लिंगानुपात में भी सुधार

पथरोटा के 82.3 प्रतिशत लोग शिक्षित, लिंगानुपात में भी सुधार

  • – विद्यार्थियों ने किया डिजिटल पेपरलेस सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण
  • – गांव के 87 प्रतिशत लोगों के पास शौचालय की सुविधा उपलब्ध

इटारसी। शासकीय महात्मा गांधी स्मृति स्नातकोत्तर महाविद्यालय इटारसी के भूगोल विभाग के छात्रों ने ग्राम पथरोटा का सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण कर गांव के सामाजिक आर्थिक विकास के बारे में जानकारी प्राप्त की गई। इस सर्वेक्षण में महाविद्यालय के बीए, एमए के 63 छात्रों ने भाग लिया। प्राचार्य डॉ. राकेश मेहता ने बताया कि किसी भी गांव के सामाजिक आर्थिक स्थिति को जानने के लिए उसे क्षेत्र का सर्वेक्षण किया जाता है, और उस प्रतिवेदन के आधार पर उन क्षेत्रों का विकास किया जाता है।

उन्होंने विद्यार्थियों एवं विभाग के प्रयास की सराहना की। भूगोल विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ दिनेश कुमार ने बताया कि इस प्रकार के सर्वेक्षण पिछले कई वर्षों से विभाग के विद्यार्थियों द्वारा अलग-अलग गांव में किया जाता है। इस बार का सर्वेक्षण पिछले सर्वेक्षण से इस प्रकार लग रहा कि विद्यार्थियों ने इस बार पेपर लेस सर्वेक्षण अर्थात गूगल फॉर्म के द्वारा आंकड़ों को एंट्री किया गया। इस प्रकार के सर्वेक्षण से विद्यार्थी सर्वेक्षण के तुरंत बाद किसी क्षेत्र के सामाजिक आर्थिक विकास के बारे में रिपोर्ट बना सकता है। यह बता दें कि सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार गांव के 82.3 प्रतिशत लोग शिक्षित पाए हैं जो पिछली जनगणना में 75.66 प्रतिशत था। लिंगानुपात में भी सुधार देखने को मिला है वर्तमान में गांव की लिंगानुपात 949 हो गई है जो 2011 में 914 था गांव में 64.6 प्रतिशत परिवार एकल एवं 35.4 प्रतिशत परिवार संयुक्त रूप से रह रहे हैं।

गांव में मुख्य फसल के रूप में गेहूं, चना, मटर, आलू एवं धान मक्का और सोयाबीन है। यहां पर 78 प्रतिशत लोग ट्यूबवेल से सिंचाई करते हैं जबकि 21 प्रतिशत लोग नहर से सिंचाई करते हैं। गांव में पीने के पानी के रूप में 83 प्रतिशत लोग ने बताया कि वह नलकूप का प्रयोग करते हैं एवं स्वच्छता के मामले में गांव अग्रणी है यहां 87 प्रतिशत लोगों के पास शौचालय की सुविधा उपलब्ध है। गांव के उच्च विकसित स्तर के लोगों के पास फ्रिज, एसी, कूलर, चार पहिया जैसे वाहन भी उपलब्ध है, वहीं निम्न जीवन विकास स्तर के लोगों के पास आधारभूत सुविधाओं का अभाव है। इटारसी तहसील का यह गांव एक अग्रणी गांव के रूप में जाना जाता है परंतु यहां पर कुछ मूलभूत सुविधाओं का अभाव है जैसे सड़क की समस्या पीने के पानी की समस्या एवं 13 प्रतिशत लोगों के पास शौचालय सुविधा नहीं है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!