नर्मदा के पवित्र जल में समाहित हो गये नर्मदा सेवक के अंतिम अवशेष

नर्मदा के पवित्र जल में समाहित हो गये नर्मदा सेवक के अंतिम अवशेष

स्व. श्री दवे के अंतिम अवशेषो का उनके परिजनो तथा मुख्यमंत्री ने किया विर्सजन
होशंगाबाद। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिल माधव दवे के भाई अभय दवे एवं परिवार के सदस्यों के साथ विधिपूर्वक स्वर्गीय दवे की अवशेषों को पावन नर्मदा में विसर्जित किया।
उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार को वैदिक रीति से होशंगाबाद में नर्मदा तट बांद्राभान में किया गया था। आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, स्वर्गीय श्री दवे के अनुज अभय दवे एवं परिवार के सदस्यों के साथ विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सीताशरण शर्मा, सांसद तथा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, संगठन मंत्री सुहास भगत, विधायक विजयपाल सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष भरत सिंह ठाकुर एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रात: 8.10 बजे बांद्राभान पहुंचे। उन्होंने स्वर्गीय श्री दवे के परिजनों के साथ अस्थि संचय किया। वैदिक रीति के अनुसार समस्त प्रक्रियाएं संपन्न कराई। विधि पूर्वक उनकी अस्थियां तथा अवशेष संचित किये। इसके बाद नर्मदा की बीच धारा में उनके अवशेषों को विसर्जित किया। स्वर्गीय श्री दवे की इच्छा के अनुसार उनकी स्मृति में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पांच पौधे रोपे और इसमें भी श्री दवे के अवशेषो को शामिल किया।
स्वर्गीय श्री दवे ने नदियो के संरक्षण तथा पर्यावरण संरक्षण के लिए जीवन भर प्रयास किया। नर्मदा के तट पर नदी महोत्सव का आयोजन कर उन्होंने पर्यावरण सुरक्षा का संदेश दिया। उनकी अंतिम इच्छा के अनुसार अंतिम संस्कार तथा अंतिम अवेशेषों का विसर्जन नर्मदा में किया। जीवनभर नर्मदा की सेवा करने वाला नर्मदा सेवक अंत में माँ नर्मदा के पवित्र जल में समाहित हो गया। स्वर्गीय श्री दवे के अस्थि कलश को विसर्जन के लिए उनके अनुज अभय दवे एवं परिजन अपने साथ लेकर यहां से रवाना हुए। इस अवसर पर नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर उमाकांत उमराव, पुलिस महानिरीक्षक रवि कुमार गुप्ता, कलेक्टर अविनाश लवानिया, पुलिस अधीक्षक आशुतोष प्रताप सिंह सहित प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

error: Content is protected !!