Breaking News

मेरे क्षेत्र में खोला जाए मेडिकल कॉलेज

मेरे क्षेत्र में खोला जाए मेडिकल कॉलेज

संसद में बोले सांसद राव उदय प्रताप सिंह
इटारसी।सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने संसद में बजट पर चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश का गौरव पुरुष और वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा प्रस्तुत बजट की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि बजट गांव, गरीब और किसान की मदद करने वाला है। जो 125 करोड़ हिंदुस्तानियों को गति देगा। सांसद ने इसमें कुछ सुधार, सुझाव व मांगेें भी संसद के समक्ष रखी।
सांसद श्री सिंह ने संसद में कहा कि बजट में घोषणा हुई है कि तीन लोकसभा क्षेत्र के बीच में एक मेडिकल कॉलेज खुलेगा। उन्होंने कहा कि भोपाल से लेकर जबलपुर के 300 किलोमीटर के आबादी वाले क्षेत्र में होशंगाबाद-नरसिंहपुर उनका लोकसभा क्षेत्र आता है, यहां एक भी मेडिकल कॉलेज नहीं है, यहां पर होशंगाबाद या नरसिंहपुर जहां उचित हो वहां पर एक मेडिकल कॉलेज खोला जाए। सांसद ने कहा कि 2018 के बजट से किसानों को बड़ी उम्मीद है। कृषि मंत्री से कहा कि एपीएम एक्ट में सुधार करें। जब तक किसान और उपभोक्ता अपनी नीति आमने सामने बैठकर नहीं बनाएंगे तब तक किसान और उपभोक्ताओं का भला नहीं होगा।

गेहूं, चना का समर्थन मूल्य बढ़ाएं
बजट में किसानों की आय डेढ़ गुना करने की घोषणा पर बोलते हुए सांसद सिंह ने कहा कि गेहूं का एमएसपी 1735 रुपए, चना 4400 रुपए और मसूर का 4200 रुपए सरकार दे रही है, लेकिन ये पर्याप्त नहीं है। किसानों का पक्ष रखते हुए उदाहरण दिया कि अभी एक एकड़ के खेत में चना 5 क्विंटल होता है, इसके 20-22 हजार रुपए किसान को मिलते हैं, लेकिन इतना चना उत्पादन करने में एक एकड़ पर किसान के 15 से 17 हजार रुपए खर्च हो जाते हैं, ऐसे में आय डेढ़ गुना कैसे हो पाएगी?

बुजुर्गों की पेंशन, आंगनबाड़ी में मानदेय बढ़े
सांसद सिंह ने संसद में वित्त मंत्री के समक्ष मांग रखी कि बुजुर्गों, विधवा महिलाओं को दी जाने वाली पेंशन बहुत कम है, अभी 300 रुपए प्रतिमाह ये मिलती है, इसे बढ़ाकर कम से कम 500 रुपए किया जाए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय पर उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को सम्मानजनक मानदेय मिलना चाहिए ये उनका हक है।

एनएच के लिए फंड मांगा : मेरे क्षेत्र में नेशनल हाईवे की घोषणा हुई है, जो नरसिंहपुर होश्ंागाबाद के लिए घोषणा हुई है उसके लिए राशि आवंटन जल्द हो।

रेलवे मालभाड़ा बढ़ाने दिया सुझाव – देश में कई रेलवे ट्रेक ऐसे हैं जहां एक तरफ तो मालभाड़ा मिलता है लेकिन दूसरी तरफ तब ट्रेन लौटती है तो गाड़ी खाली आती है। इन खाली आने वाली गाडिय़ों से भी मालभाड़ा मिल सके इसके लिए प्रयास करते हुए कुछ प्रोत्साहन योजना लेकर आएं।
जोन को मिले ट्रेन स्टॉपेज के अधिकारी -सांसद ने संसद में ट्रेनों के स्टॉपेज के लिए बड़ी मांग रेल मंत्री के सामने रखी। उन्होंने कहा कि ट्रेनों के स्टॉपेज के अधिकार जोन स्तर पर दिए जाएं, ताकि काम आसानी से हो सके। उन्होंने सुझाव दिया कि रेल अधिकारी और स्थानीय जनप्रतिनिधि मिलकर तय करें कि उनके क्षेत्र से मिलने वाली ट्रेनों का स्टॉपेज कहां-कहां किया जा सकता है।

आयुष्मान योजना में अस्पताल दूर न हों – सांसद सिंह ने कहा कि बजट में 10 करोड़ गरीब परिवारों के लिए आयुष्मान बीमा योजना का प्रावधान किया गया है। सांसद ने इस योजना के लिए मांग की है कि इसमें जो भी अस्पताल चिन्हित किए जाएं वे क्षेत्रवा और राज्यवार हों, जिससे मरीजों को अस्पताल पहुंचने में ज्यादा दूरी न हो।

डिजिटल बोर्ड डेवलप स्कूलों में ही लगाएं- सरकारी स्कूलों में ब्लेक बोर्ड के स्थान पर डिजिटल बोर्ड लगाने की योजना पर सांसद सिंह ने कहा कि पहले चरण में उन्हीं सरकारी स्कूलों में ये बोर्ड लगाए जाएं जहां पर इंफ्रास्ट्रक्चर अच्छो, स्कूलों में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर, बाउंड्रीवाल हो और खास चीज यहां आप्टीकल फायबर से इंटरनेट पहुंचता हो, नहीं तो इसके परिणाम अच्छे नहीं आएंगे।

error: Content is protected !!