तेरह वर्ष बाद इटारसी में 4 दिसंबर से होगा पंचकल्याणक महोत्सव

तेरह वर्ष बाद इटारसी में 4 दिसंबर से होगा पंचकल्याणक महोत्सव

  • – छह दिन चलेंगे पंचकल्याणक महोत्सव के कार्यक्रम
  • – देश के साथ ही विदेश से भी समाज के लोग आएंगे
  • – समापन दिवस 9 दिसंबर को होगा गजरथ महोत्सव

इटारसी। श्री पंचकल्याणक महोत्सव समिति (Shri Panchkalyanak Mahotsav Committee) सकल जैन समाज (Sakal Jain Samaj) के तत्वावधान में पंचकल्याणक महोत्सव का आयोजन 4 से 9 दिसंबर तक इटारसी (Itarsi) में होगा। इस दौरान वेदी, मानस्तंभ, प्रतिष्ठा, गजरथ महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ आचार्य विद्यासागर जी महाराज (Acharya Vidyasagar Ji Maharaj) के परम शिष्य मुनिश्री निर्णय सागर महाराज के सानिध्य में होगा। आयोजन के विषय में मुनिश्री निर्णय सागर महाराज (Munishree Niranjan Sagar Maharaj) ने बताया कि इटारसी में 4 से 9 दिसंबर के मध्य जिनालय श्री महावीर दिगंबर जैन मंदिर की वेदी प्रतिष्ठा, जितेन्द्र भगवान की प्राण प्रतिष्ठा, श्री आदिनाथ मंदिर की प्रतिष्ठा होगी। यह धार्मिक कार्य प्रतिष्ठाचार्य प्रदीप शास्त्री पीयूष भैया एवं सुमित भैया के मार्गदर्शन में होगा। संचालन अधिवक्ता दीपक जैन (Deepak Jain) ने और आभार अधिवक्ता अरविंद गोईल (Arvind Goil) ने किया।

ये होंगे पंचकल्याणक के कार्यक्रम

  • 4 दिसंबर, सोमवार को प्रथम दिन घटयात्रा, ध्वजारोहण गर्भकल्याणक अंतर्गत सुबह 7 बजे आचार्य गुरु आज्ञा यंत्र अभिषेक, घटयात्रा, महाराज श्री के आशीष प्रवचन, प्रात: 10 बजे ध्वजारोहण, 12:30 बजे याज्ञमंडल विधान, शाम 6:30 बजे आरती, प्रवचन, 8 बजे सौधर्म इंद्रसभा और रात 10 बजे आंतरिक क्रियाएं।
  • 5 दिसंबर मंगलवार को गर्भकल्याणक अंतर्गत प्रात: 6 बजे अभिषेक पूजन, 8:30 बजे महाराजश्री के प्रवचन, 10 बजे मानस्तंभ एवं आदिनाथ जिनालय शुद्धि हेतु घटयात्रा, दोपहर 1 बजे माता की गोद भराई नाटक, शाम 6:30 बजे आरती प्रवचन और 7:30 बजे महाराज नाभिराज का राजदरबार।
  • 6 दिसंबर बुधवार को जन्म कल्याणक अंतर्गत प्रात: 6 बजे अभिषेक, पूजन सौधर्म, इंद्र की सभा, जन्मकल्याणक कलश की बोली, प्रात: 8:30 बजे महाराजश्री के प्रवचन, दोपहर 1 बजे जन्म कल्याणक की शोभायात्रा, दोपहर 3 बजे पांडुकशिला पर अभिषेक, शाम 4 बजे जन्माभिषेक, वस्त्र आरोहण, 6:30 बजे आरती प्रवचन, 7:30 बजे तांडव नृत्य, पालना, बालक्रीड़ा।
  • 7 दिसंबर को तप कल्याणक अंतर्गत प्रात: 6 बजे अभिषेक पूजन, 8:30 बजे महाराजश्री के प्रवचन, प्रात:10:30 बजे आदिकुमार की बारात, दोपहर 12 बजे महाराज नाभिराज का राज दरबार, आदिकुमार का राज्याभिषेक, घटकर्म उपदेश, नीलांजना नृत्य, वैराग्य, लोकातिक देवों का आगमन, माता का आशीष। दोपहर 2:30 बजे पिच्छिका परिवर्तन, शाम 6:30 बजे आरती, प्रवचन, शाम 7:30 बजे नाटक, सांस्कृतिक कार्यक्रम।
  • 8 दिसंबर को ज्ञान कल्याणक अंतर्गत प्रात: 6 बजे अभिषेक, पूजन, 8:30 बजे महाराजश्री के प्रवचन, 12 बजे ज्ञान कल्याणक क्रियाएं, समोशरण रचना, केवल ज्ञान कल्याणक, पूजा समोशरण में दिव्य ध्वनि, 6:30 बजे आरती, प्रवचन, 7:30 बजे सम्मान समारोह, सांस्कृतिक कार्यक्रम।
  • 9 दिसंबर को मोक्ष/निर्वाण कल्याणक अंतर्गत प्रात: 6 बजे अभिषेक, पूजन, 7 बजे मोक्ष कल्याणक की क्रियाएं एवं संस्कार, दोपहर 1 बजे गजरथ फेरी, दोपहर 2:30 बजे महाराजश्री के प्रवचन और आभार के साथ समापन।
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!