माता के दर्शन करने पैदल सलकनपुर जा रहे श्रद्धालुओं के लिए बांट रहे फलहार

माता के दर्शन करने पैदल सलकनपुर जा रहे श्रद्धालुओं के लिए बांट रहे फलहार

नर्मदापुरम। माता के दर्शन करने पैदल जा रहे श्रद्धालुओं के लिए स्थानीय बाबई पुराना नाका (Babai Purana Naka) जेल रोड (Jail Road) के पास श्रद्धालुओं के लिए फलहार सामग्री बांटने के लिए पंडाल लगाया गया है। यहां सामग्री का वितरण लगभग 5 साल से किया जा रहा है। प्रतिदिन अलग-अलग उपवास की सामग्री वितरित की जाती है, जो श्रद्धालु थक जाते हैं, उनके लिए टेंट (Tent) में आराम के लिए व्यवस्था की गई है और खानपान के लिए शुद्ध रूप से फलहार नमकीन, खिचड़ी के अलावा मही, दही के साथ-साथ अन्य फलहार सामग्री श्रद्धालुओं को वितरित की जाती है।

आयोजक अधिवक्ता मोहन बैरागी (Advocate Mohan Bairagi) ने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए यह काम हर वर्ष किया जाता है। हजारों की संख्या में श्रद्धालु पैदल निकलते हैं। हम इन्हें फलहार का वितरण प्रसादी के रूप में देते हैं। 9 दिन भक्ति और भाव के रहते हैं। उन्होंने कहा कि परिवार के अलावा मित्र भी इस कार्य में भरपूर सहयोग करते हैं। इस मौके पर मोहनदास बैरागी, वरिष्ठ पत्रकार प्रफुल्ल तिवारी (Prafulla Tiwari), हेमंत राजपूत (Hemant Rajput), अभिषेक (Abhishek), रामू चौहान (Ramu Chauhan), हरि भई, लाल बाबा, सुशील, शैलेन्द्र मालवीय, हनुमत, संतदी, बिल्लू मालवीय, अफजन, लतीफ, दिनेश शर्मा, सोनू, कल्लू भाई, गोलू, सोनू, आदि सहयोग करते हैं।।

सलकनपुर (Salkanpur) पैदल यात्रियों के लिए फलहार की व्यवस्था पुराने बाबई नाका पर हर साल की जाती है। हजारों की संख्या में यहां सलकनपुर जाने वाले पैदल यात्रियों की सेवा होती है। इस कार्य में अनेक लोग शामिल होते हैं। श्रद्धालुओं के लिए प्रतिदिन नए-नए फलहार की व्यवस्था की जाती है। जिसमें फलों में केला, सेवफल, केले, पपीता के अलावा मौसमी फलों को विशेष रूप से दिया जाता है। वहीं साबूदाने की खिचड़ी के अलावा अन्य फलहार श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराया जाता है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!