हड़ताल का असर : देरी से पहुंचा दूध, परेशान रहे नागरिक

हड़ताल का असर : देरी से पहुंचा दूध, परेशान रहे नागरिक

  • – प्रशासन का दावा, नहीं होने दी जाएगी जरूरी चीजों की कमी

इटारसी। ड्रायवरों की हड़ताल का असर दूसरे ही दिन दिखाई देने लगा है। आज सुबह इटारसी (Itarsi) में दूध के लाले पड़ गये। सुबह भोपाल से आने वाला दूध नहीं आ सका और दूध वितरण केन्द्र से लोग मायूस होकर लौटने लगे। हालांकि दूध की गाडिय़ां सुबह 11 बजे के बाद आना प्रारंभ हो गयीं, लेकिन इस देरी ने लोगों को खासी परेशानी में डाल दिया था।

इटारसी में आधा दर्जन से अधिक स्थानों से विभिन्न कंपनियों का दूध वितरण होता है। सुबह लोग पहुंचे लेकिन लंबा इंतजार करने के बाद वापस लौटना पड़ा। मोहल्लों, गलियों में दूध के पैकेट लेकर बेचने जाने वाले छोटे-छोटे विक्रेता भी नहीं पहुंचे, जिससे लोग परेशान हो गये। किराना दुकानों पर भी दूध नहीं पहुंंचा तो लोगों को चाय के लिए और बच्चों को दूध नहीं मिल सका। प्रशासन हालांकि आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति का दावा अवश्य कर रहा है, लेकिन वास्तविकता के धरातल पर तस्वीर इन दावों से जुदा है। पेट्रोप पंपों (Petrop Pumps) पर आज भी भीड़ देखी गयी, जिनको कल पेट्रोल नहीं मिला वे आज पंपों पर पहुंचे। फिलहाल रेलवे स्टेशन (Railway Station) के सामने और खेड़ा पेट्रोल पंप से वितरण हो रहा है।

प्रशासन अलर्ट मोड पर

एसडीएम टी प्रतीक राव (SDM T Pratik Rao) और एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान (SDOP Mahendra Singh Chauhan) पेट्रोल की आपूर्ति सुनिश्चित करने देहरी डिपो (Dehri Depot) पहुंचे हैं। प्रशासन का दावा है कि पेट्रोल डीजल की कोई कमी नहीं है। आज सुबह एक वीडियो संदेश के माध्यम से अपर कलेक्टर देवेन्द्र कुमार सिंह (Devendra Kumar Singh) ने नागरिकों को आश्वस्त किया हे कि स्ट्राइक की वजह से आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई बाधित नहीं होने दी जाएगी। एलपीजी, पेट्रोल-डीजल की सप्लाई सुनिश्चित कर रहे हैं। भोपाल, जबलपुर डिपो से टेंकर निकल चुके हैं जो कल तक पहुंच जाएंगे, कुछ टेंकर पहुंच भी गये हैं। एलपीजी की सप्लाई भी बनी हुई है। प्रशासन काम कर रहा है, एसडीएम, तहसीलदार की ड्यूटी लगायी है ताकि इन पदार्थों की कालाबाजारी न हो और सबको आवश्यकतानुसार यह चीजें मिल सकें।

पंप संचालकों ने दिया भरोसा

इटारसी के पेट्रोल पंप संचालकों ने भी भरोसा दिलाया है कि किसी भी प्रकार के बहकावे में न आएं, पेट्रोल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है, किसी को कोई परेशानी नहीं होगी, कृपया जितनी जरूरत है, उतना ही पेट्रोल-डीजल लें, इसका स्टॉक करना न सिर्फ गैरकानूनी है बल्कि यह खतरनाक भी है। पंप संचालक सत्यम अग्रवाल ने कहा कि पेट्रोल पंप पर पेट्रोल-डीजल की सप्लाई जारी रहेगी, कृपया आवश्यकता अनुसार ही पेट्रोल-डीजल लें, अधिक क्रय न करें। ग्रामीण क्षेत्र में भी इन पदार्थों की कोई कमी नहीं होगी। पंप संचालक हेमंत दुबे ने लोगों से आग्रह किया है कि गैरजरूरी अफवाहों पर ध्यान न दें और जितना आवश्यक है, उतना ही लें।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!