शासकीय एमजीएम कालेज में तीन दिवसीय दीक्षारंभ कार्यक्रम का शुभारंभ

शासकीय एमजीएम कालेज में तीन दिवसीय दीक्षारंभ कार्यक्रम का शुभारंभ

इटारसी। शासकीय एमजीएम कालेज (Government MGM College) में दीक्षारंभ कार्यक्रम मुख्य अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे (Pankaj Chaure), जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष डॉ नीरज जैन (Dr. Neeraj Jain), प्राचार्य डॉ राकेश मेहता (Principal Dr. Rakesh Mehta), वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ अरविंद शर्मा (Dr. Arvind Sharma), डॉ रश्मि तिवारी (Dr. Rashmi Tiwari), कार्यक्रम अधिकारी डॉ संतोष कुमार अहिरवार ((Dr. Santosh Kumar Ahirwar)) की उपस्थित में किया। शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन पूजन से हुआ। बीए प्रथम वर्ष की छात्रा आरती तिवारी ने हे शारदे मां अज्ञानता से हमें तार दे मा की प्रस्तुति दी।

प्राचार्य डॉ राकेश मेहता ने स्वागत भाषण में संस्थान का परिचय एवं उसकी विजन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि महाविद्यालय की स्थापना 14 जुलाई 1958 को हुई थी। आज महाविद्यालय एक वट वृक्ष के रूप में पुष्पित पल्लवित हो रहा है। अधोसंरचना का व्यवस्थित विकास हुआ, ग्रंथालय संभाग में सबसे बड़ा है। कंप्यूटर लैब, भाषा प्रयोगशाला, जैसे महत्वपूर्ण आयाम महाविद्यालय में स्थापित हैं। महाविद्यालय का विजन छात्रों के संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास करना है, जिससे विद्यार्थी न केवल अकादमिक रूप से सक्षम रहें अपितु सामाजिक व्यवस्था के एक उपादान के रूप में भी उनका योगदान देश के प्रति हो।

नपाध्यक्ष पंकज चौरे ने स्कूल और महाविद्यालय में बड़ा अंतर को समझाते हुए कहा कि क्या समझते आप ‘आजाद हो गए हैं, उन्मुक्त न होंÓ महाविद्यालय की संपत्ति आपकी संपत्ति है, इसको नुकसान ना पहुंचाएं आप अच्छे नागरिक होने का परिचय दें। भारत सरकार के द्वारा विद्यार्थियों के लिए कई सारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। उनका लाभ लें और महाविद्यालय और अपने परिवार का नाम रोशन करें। जन भागीदारी समिति के अध्यक्ष डॉ नीरज जैन में कहा कि महाविद्यालय शिक्षा का उत्तम माध्यम है। अपनी समस्याओं को प्रोफेसर के पास रखेंगे तो आपकी समस्या का समाधान होगा, ऐसा मुझे विश्वास है।

प्राध्यापक डॉ. अरविंद शर्मा ने अधिकारी कर्मचारियों का परिचय कराते हुए कहा कि आपकी प्रत्येक समस्या का समाधान शिक्षकों के पास है, उनके पास जाएं अपनी जिज्ञासाओं का समाधान करें। वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ रश्मि तिवारी ने डॉक्यूमेंट्री लघु फिल्म को दिखाया जिसमें महाविद्यालय की अधोसंरचना विभागों की कार्य योजना एवं प्रणाली शामिल है। सहायक प्राध्यापक आशुतोष कुमार मालवीय एवं एवं डॉ मनीष कुमार चौर ने महाविद्यालय परिसर का विद्यार्थियों को भ्रमण भी कराया। संचालन राष्ट्रीय शिक्षा नीति के नोडल अधिकारी डॉ संतोष कुमार अहिरवार ने तथा आभार प्रदर्शन हिंदी विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ मनीष कुमार चौरे ने किया। इस अवसर पर डॉ ओपी शर्मा, डॉ अर्चना शर्मा, श्रीमती सुशीला बरबड़े डॉ कुजूर, संजीव डॉ. आशुतोष कुमार मालवीय डॉ दिनेश कुमार आदि उपस्थित रहे।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!