अंतर्राष्ट्रीय बाघ तस्कर कल्ला बावरिया स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स मध्यप्रदेश की गिरफ्त में

अंतर्राष्ट्रीय बाघ तस्कर कल्ला बावरिया स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स मध्यप्रदेश की गिरफ्त में

नर्मदापुरम। स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स मध्यप्रदेश (State Tiger Strike Force Madhya Pradesh) को वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो भारत सरकार नई दिल्ली (Wildlife Crime Control Bureau Government of India New Delhi) से प्राप्त इंटेलिजेन्स इनपुट (Intelligence Input) के आधार पर 18 अगस्त को विदिशा-सागर राजमार्ग (Vidisha-Sagar Highway) में ग्यारसपुर के पास घेराबंदी कर कुख्यात अंतर्राष्ट्रीय बाघ शिकारी एवं तस्कर आदिन सिंह उर्फ कल्ला बावरिया (Smuggler Adin Singh alias Kalla Bawaria) को पकड़ा गया।

उप वन संरक्षक कार्यालय प्रधान मुख्य वनसंरक्षक भोपाल धीरज चौहान (Principal Chief Conservator of Forests Bhopal Dheeraj Chauhan) ने बताया कि भारत सरकार (Government of India) द्वारा बाघों के शिकार पर जारी अलर्ट पर कार्यवाही करते हुए देश के अलग-अलग प्रदेशों के वन विभाग / पुलिस विभाग तमिलनाडू (Tamil Nadu), महाराष्ट्र (Maharashtra), असम (Assam), मेघालय (Meghalaya) में बाघ की खाल व हड्डियों की भारी मात्रा में जब्त की गई हैं तथा उसके शिकार एवं तस्करी में लिप्त उत्तर भारत निवासी विशेष शिकारी गिरोह (बावरिया) के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। उक्त कार्यवाही से बचने के लिए कल्ला बावरिया मध्यप्रदेश के विदिशा-सागर जिले में डेरा लगा कर रह रहा था।

कल्ला बावरिया के विरूद्ध देश में के कई राज्यों में तथा पड़ोसी राष्ट्र नेपाल में भी बाघ के शिकार एवं उसके अवयवों की तस्करी के प्रकरण दर्ज है।। कल्ला बावरिया की विगत कई वर्षों से कई राज्यों की पुलिस, वन विभाग एवं नेपाल सेन्ट्रल इन्वेटिगेशन ब्यूरो (सीआईबी) (Nepal Central Investigation Bureau) तलाश रही थीं। उक्त कार्यवाही से न केवल मध्यप्रदेश राज्य अपितु संपूर्ण भारत वर्ष में बाघों के संरक्षण एवं सुरक्षा सुनिश्चित हो सकेगी तथा बाघ की तस्करी में संलिप्त संगठित अपराध को रोकने की दिशा मे अहम कड़ी सबित होगी। कल्ला बावरिया को विशेष न्यायालय नर्मदापुरम में फॉरेस्ट कस्टडी रिमांड हेतु प्रस्तुत किया। कल्ला बावरिया गिरोह के अन्य सदस्यों तथा अपराधों के संबंध में अन्य राज्यों तथा पड़ोसी राष्ट्र से संपर्क कर जानकारी एकत्र की जा रही है। प्रकरण में विवेचना जारी है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!