कचरे में आग लगाकर प्रदूषण फैला रहे सफाई कर्मचारी

कचरे में आग लगाकर प्रदूषण फैला रहे सफाई कर्मचारी

इटारसी। नगर के अनेक क्षेत्रों में रोज सुबह-सुबह कूड़े को आग लगाई जा रही है, जिससे निकलने वाली हानिकारक गैसें (Gases) वायुमंडल को प्रदूषित कर रही हैं। कूड़े में आग लगाना मना है, लेकिन सफाई कर्मचारी मनमानी पर उतारू हैं और बाजार क्षेत्र में व्यापारियों के विरोध करने के बावजूद इनकी मनमानी पर कोई अंकुश नहीं है।

शहर के वातावरण को प्रदूषित करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की जिम्मेदारी नगर पालिका (Municipality) और उसके कर्मचारियों पर है, लेकिन वही कर्मचारी सुबह-सुबह कूड़े को आग लगाकर प्रदूषण फैला रहे हैं। इस तरह की चीजों पर प्रतिबंध होने के बावजूद इन कर्मचारियों की मनमानी को रोकने वाला भी कोई नहीं है। जब कर्मचारी सुबह-सुबह सफाई करके कचरे को आग लगाते हैं उस वक्त नगर पालिका के जिम्मेदार नींद में होते हैं। निगरानी न होने से सफाई कर्मचारी सफाई के बाद एकत्र कचरे में आग लगा देते हैं। गौरतलब है कि पिछले एक सप्ताह पूर्व भी एक युवा व्यापारी ने सोशल मीडिया (Social Media) पर फोटो डालकर जिम्मेदारों को उनकी जिम्मेदारी का अहसास कराने का प्रयास किया था, लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला।

आज भी मुख्य बाजार में कर्मचारी कचरा एकत्र करके उसे आग के हवाले कर रहे हैं। इस तरह की मनमानी करके कर्मचारी सफाई के बाद एकत्र कचरे को कचरा अड्डा तक पहुंचाने की मेहनत बचा रहे हैं।

एनजीटी के आदेश हैं

नेशनल ग्रीन ट्रब्यूनल (National Green Tribunal) के आदेश है कि यदि कोई नागरिक इस तरह से प्रदूषण फैलाता है तो उस पर 500 रुपए का जुर्माना किया जाना चाहिए, अब तो स्वयं नगर पालिका के कर्मचारी ही ऐसा कर रहे हैं, इनके खिलाफ कार्रवाई क्या होगी, देखना होगा।

इनका कहना है…

मुझे अभी स्वच्छता विभाग का कार्यभार संभाले कुछ दिन ही हुए हैं, इस तरह की शिकायत मेरे समक्ष पहली बार आयी है। मैं सुबह जांच कराता हूं, पता करते हैं कि कौन कर्मचारी ऐसा कर रहे हैं, इस पर रोक लगायी जाएगी।

मयंक अरोरा, सब इंजीनियर, प्रभारी स्वच्छता शाखा

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!