स्वामी दयानंद गुरुकुल आश्रम में मना स्वामी श्रद्धानंद का बलिदान दिवस

स्वामी दयानंद गुरुकुल आश्रम में मना स्वामी श्रद्धानंद का बलिदान दिवस

  • – वैश्य महासम्मेलन, लायंस क्लब और अग्रवाल महिला महासभा ने की शिरकत
  • – गुरुकुल के सन्यासियों को शॉल, बिस्कुट, चॉकलेट, मौजू प्रदान किये

इटारसी। महर्षि दयानंद गुरुकुल आश्रम (Maharishi Dayanand Gurukul Ashram) जमानी (Zamani) में आज स्वामी श्रद्धानन्द का (Swami Shraddhanand) 97 वॉ बलिदान दिवस मनाया। आचार्य सत्यप्रिय (Acharya Satyapriya) ने वैदिक यज्ञ कराया। इस अवसर पर आश्रम के बालकृष्ण मालवीय (Balkrishna Malviya) ने आचार्य श्रद्धानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि अमर स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी जिन्होंने जलियांवाला बाग हत्याकांड (Jallianwala Bagh massacre) के विरोध में निकाले जुलूस का नेतृत्व चांदनी चौक (Chandni Chowk) पर किया। पहले ऐसे आधुनिक महात्मा जिन्होंने गुरुकुल कांगड़ी में पहला कन्या गुरुकुल खोला।

आज के युग के ऐसे पहले महात्मा जिन्होंने शुद्धि आंदोलन चलाया जिसमें जो हिंदू, मुस्लिम या इसाई बन गये पुन: हिंदू बन सकते थे। ऐसे पहले महात्मा जिन्होंने जामा मस्जिद के इमाम के तख्त से ऋग्वेद के मन्त्रों का पाठ कर अपना वैदिक उद्बोधन दिया। इस अवसर पर समाजसेवी अरविंद मालवीय (Arvind Malviya) ने मिष्ठान वितरण किया। इस दौरान आचार्य राहुल, (Acharya Rahul) शालिगराम चौधरी जमानी (Shaligram Chaudhary Zamani) एवं पूना (Pune), नर्मदापुरम (Narmadapuram), इटारसी (Itarsi) और दिल्ली (Delhi) से भी आर्यसमाजी आये थे।

स्वामी श्रद्धानंद के बलिदान दिवस पर वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश महिला इकाई इटारसी, अखिल भारतीय अग्रवाल महिला महासभा इटारसी, लायंस क्लब मैत्री इटारसी और लायंस क्लब कपल इटारसी के संयुक्त तत्वावधान में महर्षि दयानंद गुरुकुल आश्रम, ग्राम जमानी में एक एक्टिविटी का आयोजन किया जिसमें दिल्ली, उत्तरप्रदेश, नर्मदा पुरम से आये विद्वानों को सुनने का मौका मिला। आचार्य ने कहा कि यहां से शिक्षित बच्चे देश के भविष्य हैं, साथ ही यज्ञ करने का भी अवसर प्राप्त हुआ। ब्रम्हचारियों ने स्वस्ति वाचन, हवन के पश्चात बहुत सुन्दर भजन भी प्रस्तुत किया। सभी ब्रम्हचारियों का शॉल, मौजे, बिस्किट, चॉकलेट देकर सम्मान किया। इस अवसर पर सभी ने सहभोज किया।

आचार्य सत्यप्रिय ने स्वामी श्रद्धानंद के जीवन पर प्रकाश डाला तथा गुरुकुल शिक्षा और स्कूली शिक्षा के अन्तर को स्पष्ट किया और सभी का आभार प्रकट किया। वैश्य महासम्मेलन की नगर अध्यक्ष श्रीमती श्रद्धा अग्रवाल तथा लायंस क्लब मैत्री की अध्यक्ष श्रीमती शिल्पा अग्रवाल ने आश्रम के आचार्य, ब्रम्हचारियों एवं सभी अतिथियों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में श्रीमती श्रद्धा अग्रवाल, श्रीमती मनीषा अग्रवाल, श्रीमती शिल्पा अग्रवाल, श्रीमती निशा दर्डा, श्रीमती सरिता अग्रवाल, संजय अग्रवाल, प्रहलाद बंग, निशांत अग्रवाल उपस्थित थे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!