अंतिम कंटेन्मेंट जोन भी हटा, बाजार से बैरीकेटिंग खत्म

अंतिम कंटेन्मेंट जोन भी हटा, बाजार से बैरीकेटिंग खत्म

इटारसी। प्रशासन ने शहर का एकमात्र शेष कंटेन्मेंट जोन भी खत्म करके वहां से सारी बेरीकेटिंग हटा दी है। अब शहर में कोई भी कंटेन्मेंट जोन नहीं है। इधर बाजार में भी ग्राहकों को हो रही असुविधा को ध्यान में रखते हुए बैरीकेटिंग भी हटा दी गई है। बैरीकेटिंग होने से कई व्यापारियों को परेशानी हो रही थी और पार्किंग व्यवस्था भी गड़बड़ा रही थी।
अनुविभागीय दंडाधिकारी सतीश राय ने नाला मोहल्ला का एकमात्र शेष कंटेन्मेंट जोन को खत्म करने के आदेश आज जारी किये। 28 अप्रैल से नाला मोहल्ला में कोविड-19 का संक्रमित पॉजिटिव मिलने के कारण क्षेत्र को कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया था। इस कंटेन्मेंट जोन में पाये गये अंतिम पुष्ट मामले के बाद निरंतर तीन सप्ताह तक लैब द्वारा पुष्ट कोई मामला नहीं मिला तथा पॉजिटिव के सारे संपर्कों का 21 दिन तक फालोअप पूरा हो चुका है। सीएमएचओ कार्यालय के पत्र के बाद एसडीओपी की अनुशंसा के आधार पर नाला मोहल्ला कन्टेनमेंट प्लान एवं गतिविधियों को बंद करके कंटेन्मेंट जोन को समाप्त किया गया। हालांकि डीएम के आदेश अनुसार लागू धारा 144 के तहत प्रतिबंध एवं दंड प्रावधान यहां लागू रहेंंगे।

बाजार से बैरीकेट्स हटाये
जिला प्रशासन ने आज बाजार में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के उद्देश्य से लगाये बैरीकेट्स अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिलने के बाद हटा दिये। दरअसल, बैरीकेटिंग के बावजूद दुपहिया वाहन चालक तंग गलियों से बाजार के भीतर वाहन सहित पहुंच रहे थे। दुकानदारों को भी इससे परेशानी थी, क्योंकि उनके वाहन भी दुकान से दूर खड़ी करनी पड़ रही थी। इसके अलावा जो लोग बाजार के भीतर वाहन नहीं ले जा रहे थे, वे बैरीकेटिंग के सामने वाहन खड़े कर रहे थे, जिससे पैदल निकलने वालों को भी परेशानी होने लगी थी। बैरीकेटिंग से कुछ क्षेत्र के दुकानदारों का व्यवसाय भी प्रभावित हो रहा था। ये सारी परेशानियों को देख विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा ने भी प्रशासन से बातचीत की थी। आखिरकार प्रशासन ने सारी चीजों पर गौर करते हुए आज से बाजार में बैरीकेटिंग व्यवस्था को खत्म कर दिया है।

अधिकारियों ने किया बाजार का निरीक्षण
बुधवार की शाम को जिला पंचायत सीईओ आदित्य सिंह ने बाजार की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उनके साथ एसडीएम सतीश राय, एसडीओपी महेन्द्र मालवीय, टीआई दिनेश सिंह चौहान और सीएमओ सीपी राय भी मौजूद रहे। अधिकारियों ने बाजार की सभी प्रमुख गलियों में जाकर व्यवस्थाएं देखीं। सीईओ जिला पंचायत ने व्यवस्थाओं से संतोष व्यक्त करते हुए कुछ बदलाव के निर्देश भी दिये।

पार्किंग की संभावना पर विचार
टीआई दिनेश सिंह चौहान का कहना है कि जब तक शहर में पार्किंग की स्थायी व्यवस्था नहीं होगी, इस तरह की परेशानियां तो होंगी। उन्होंने बताया कि पार्किंग की संभावनाओं पर विचार किया जाएगा। दरअसल, पार्किंग के लिए स्थान बाजार के आसपास मिलना मुश्किल हो रहा है। इसके अलावा पार्किंग स्थल पर वाहनों की सुरक्षा और अन्य जिम्मेदारियों पर भी विचार करने के बाद आगे की योजना पर काम हो सकता है। फिलहाल अनुविभागीय दंडाधिकारी के आदेश के बाद पुलिस ने बाजार में वाहनों का प्रवेश रोकने के लिए लगाये गये बैरीकेट्स हटा दिये हैं।
यातायात प्रभारी उपनिरीक्षक व्हीएस घुरैया ने कहा कि बाजार का जो निर्धारित वक्त है, उसमें आने वाले ग्राहकों के लिए गांधी मैदान में वाहन पार्किंग की व्यवस्था की गई है। ग्राहकों को वहां वाहन पार्किंग करने के बाद बाजार में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खरीदारी करनी चाहिए। लेकिन, देखने में आ रहा है कि ग्रामीण अंचलों से आने वाले बाजार में ही वाहन पार्क कर रहे हैं, जिससे अव्यवस्था बन रही है। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर बाजार से बैरीकेट्स हटा दिये गये हैं। आगे जैसे भी आदेश मिलेंगे उसकी के अनुसार व्यवस्था की जाएगी।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: