संपन्न एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था विषय पर कन्या महाविद्यालय में हुआ परिचर्चा का आयोजन

संपन्न एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था विषय पर कन्या महाविद्यालय में हुआ परिचर्चा का आयोजन

इटारसी। संपन्न एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था विषय पर शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी (Government Girls College, Itarsi,) में विषय विशेषज्ञों एवं छात्राओं के मध्य परिचर्चा का आयोजन किया गया। 2047 में विकसित भारत की परिकल्पना पर आधारित परिचर्चा में कॉमर्स विभाग के प्राध्यापकों एवं छात्राओं ने संपन्न एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था विषय पर विचार व्यक्त किया।

स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ (Swami Vivekananda Career Guidance Cell) के प्रभारी व कामर्स विभाग प्रमुख स्नेहांशु सिंह (Snehanshu Singh) ने कहा कि विश्व की सभी बड़ी अर्थव्यवस्था में भारत सबसे तेज विकास कर रहा है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने COP 23 में पंचामृत योजना की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि भारत (India) 2047 तक अमेरिका (America) को पछाड़कर विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है क्योंकि भारत के पास 1.4 अरब लोगों की ताकत है। जनसांख्यिकी विभाजन, उभरता हुआ स्टॉक मार्केट, फिजिकल ओर डिजिटल तकनीक से हाईटेक होता भारत, और प्रवासी लाभांश की ताकत है।

कार्यक्रम में कॉमर्स विभाग की प्राध्यापक डॉ हर्षा शर्मा ने कहा कि संपन्न और सुदृढ़ अर्थव्यवस्था को विकसित बनाए रखने युवा का एक महत्वपूर्ण योगदान है। हमारे आसपास मौजूद जो भी संसाधन हैं, वह सीमित मात्रा में उपलब्ध हैं। उन संसाधनों को काम में लेने के लिए हमें उचित मात्रा में उनका उपयोग करना है एवं आने वाली पीढ़ी के लिए उसको संरक्षित करना है। कार्यक्रम संयोजक डॉ. शिरीष परसाई ने कहा कि महाविद्यालय की छात्राएं Viksit Bharat@ 2047 पर विकसित भारत हेतु विभिन्न विषयों पर अपने विचार रख रही हैं। संचालन हेमंत गोहिया ने किया। कार्यक्रम में डॉ. हरप्रीत रंधावा, मंजरी अवस्थी, पूनम साहू, डॉ मुकेश चंद्र बिष्ट, डॉ शिरीष परसाई, डॉ श्रद्धा जैन, डॉ शिखा गुप्ता, डॉ नेहा सिकरवार, तरुणा तिवारी, क्षमा वर्मा, प्रिया कलोसिया, शोभा मीणा, करिश्मा कश्यप तथा छात्राएं उपस्थित थीं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!